Home » उत्तर प्रदेश » UP: CM Akhilesh yadav inaugurated Agra-expressway
 

अब लखनऊ से दिल्ली दूर नहीं, 6 से 7 घंटे में पूरा कीजिए सफ़र

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2016, 15:07 IST
(ट्विटर)

अगर आप लखनऊ से दिल्ली या दिल्ली से लखनऊ सड़क के रास्ते जाना चाहते हैं, तो एक अच्छी खबर है. अब इस यात्रा को तय करने में लगने वाला वक्त पहले के मुकाबले कम हो गया है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव की मौजूदगी में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया. यह कार्यक्रम उन्नाव जिले के बांगरमऊ में संपन्न हुआ. यह देश का सबसे लंबा छह लेन वाला एक्सप्रेसवे है.

मुलायम को अखिलेश का बर्थडे गिफ्ट

इस एक्सप्रेस-वे का उद्धाटन मुलायम सिंह यादव के 78वें जन्मदिन से एक दिन पहले किया गया है. उद्घाटन के तुरंत बाद इस पर लड़ाकू विमानों सुखोई और मिराज की लैंडिंग भी हुई.

आगरा-लखनऊ सिक्स लेन एक्सप्रेसवे को बनाने में साढ़े तीन हजार मजदूरों और एक हजार इंजीनियर ने दिन-रात मेहनत की. इस एक्सप्रेसवे के बनने से आगरा और लखनऊ के साथ ही दिल्ली और लखनऊ के बीच की दूरी तय करने में कम वक्त लगेगा.

'हजरतगंज से ताजगंज दूर नहीं'

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे यूपी के सीएम अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट है. 302 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे को 22 महीने में पूरा किया गया है. इसके साथ ही अब आगरा से लखनऊ की दूरी तकरीबन तीन घंटे में तय की जा सकेगी. अब हजरतगंज से ताजगंज दूर नहीं थीम के आधार पर सीएम ने एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया.

यमुना एक्सप्रेसवे के रास्ते दिल्ली से आगरा की सड़क मार्ग से दूरी 232.7 किलोमीटर है. इसको तय करने में अभी तीन से साढ़े तीन घंटे का औसत वक्त लगता है. वहीं आगरा से लखनऊ के लिए एक्सप्रेसवे का आगे का सफर तय करके दिल्ली से लखनऊ की दूरी छह से सात घंटे के बीच तय करने में सहूलियत मिलेगी.

ट्विटर

13200 करोड़ में बना आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे

इस प्रोजेक्ट पर कुल 13,200 करोड़ रुपए का खर्च आया है. इसे दिसंबर में आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा. बीते शनिवार को वायु सेना के अधिकारियों के सहित कई अन्य अधिकारियों के द्वारा एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण किया गया था.

यह एक्सप्रेस-वे आगरा से शुरू होकर जनपद फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कन्नौज, हरदोई, कानपुर नगर और उन्नाव होते हुए लखनऊ तक पहुंचेगा.

एक्सप्रेस-वे परियोजना की खास बात ये है कि 10 जिलों के 232 गांवों में लगभग 3500 हेक्टेयर भूमि 30 हजार 456 किसानों से आपसी सहमति से बिना किसी विवाद के खरीदी गई है.

मुलायम ने अखिलेश को दी बधाई

इस मौके पर यूपी के सीएम अखिलेश यादव आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करने समाजवादी रथ पर सवार होकर कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे. इस अवसर पर सीएम अखिलेश ने कहा कि मैं समाजवादी रथ से इसलिए आया हूं कि क्योंकि इस रथ का भी नाम है, ‘विकास से विजय की ओर’.

उद्घाटन कार्मक्रम के दौरान सीएम अखिलेश ने कानपुर के पुखरायां में हुए रेल हादसे पर गहरा दुख भी जताया और एक्सप्रेस-वे का निर्माण देख रहे प्रमुख सचिव नवनीत सहगल को भी याद किया.

गौरतलब है कि प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण कर लौटते वक्त उन्नाव के पास एक सड़क हादसे में घायल हो गए हैं.

कार्यक्रम के दौरान सपा प्रमुख मुलायम सिंह ने कहा कि मैं अखिलेश को बधाई देता हूं कि एक्सप्रेस-वे चार के बजाय दो साल में ही पूरा हो गया. सपा मुखिया मुलायम सिंह के बाद प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने भी सीएम अखिलेश को बधाई दी. शिवपाल ने मौजूद सभी अधिकारियों को बधाई दी.

उन्होंने कहा कि सीएम का ये ड्रीम प्रोजेक्ट था, ये उद्घाटन हिंदुस्तान के इतिहास में अभूतपूर्व उद्गाटन है क्योंकि जो सुखोई नेताजी रक्षामंत्री लाए थे वो आज यहां उतरेंगे और टेकऑफ भी करेंगे.

इसके बाद राम गोपाल यादव ने कहा, सबसे पहले मुख्यमंत्री को बधाई देना चाहूंगा. ये एक्सप्रेस वे नहीं है, बल्कि ये जनता के लिए जीवन रेखा का काम करेगी.

आजम का पीएम मोदी पर तंज

कार्यक्रम में मौजूद अखिलेश सरकार के वरिष्ठ मंत्री आजम खां ने इस मौके पर पीएम मोदी पर खूब तंज कसा. उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे साहब ने देश को बहुत सपने दिखाए गए थे, लेकिन अफसोस कि वो दो साल में ही टूट गए. देश का खजाना खाली है, किसान और मजदूर का खजाना है. साहब ने लोगों के साथ बहुत छल किया है.

आजम खान ने कहा, एक्सप्रेस-वे ही नहीं, आज यूपी की हर सड़क सीएम अखिलेश ने ही बनवाई है.एक्सप्रेस-वे के उद्धाटन समारोह में सांसद डिंपल यादव, फिल्म अभिनेत्री और राज्यसभा सांसद जया बच्चन समेत अखिलेश सरकार के कई मंत्री, विधायक व सांसद मौजूद थे.

ट्विटर
First published: 21 November 2016, 15:07 IST
 
अगली कहानी