Home » उत्तर प्रदेश » Postman wandered in search of Bholenatha and Hanumanji in Gorakhpur
 

डाकिया हो गया परेशान जब कहीं नहीं मिले हनुमान और भोलेनाथ, जानिए क्या है पूरा माजरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 March 2019, 10:11 IST

भगवान के नाम से कोई पत्र भेजने की बात आपने या तो फिल्मों में देखी होगी या फिर किताबों और कहानियों में इसके बारे में सुना और पढ़ा होगा, लेकिन शनिवार को ये बात हकीकत में बदल गई. जब गोरखपुर में एक डाकिया को हनुमानजी और शंकर भगवान के नाम से परवाना मिला. यही नहीं इन भगवान के नाम वाले इस परवाना को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने स्पीड पोस्ट से भेजा था. उसके बाद तो डाकिया भी हैरान रह गया.

हालांकि डाकिया ने इसे अपनी ड्यूटी समझकर पहुंचाने का फैसला लिया. उसके बाद डाकिया गांव में जाकर इन नामों वाले लोगों को तलाश करता रहा. डाकिया ने घर-घर जाकर भोलेनाथ और हनुमान के बारे में पता किया लेकिन भला भोलेनाथ और हनुमान का पता कोई बताने वाला था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दोपहर बाद जब डाकिया विजय गांव पहुंचा और इन दो नामों वाले लोगों के बारे में पूछताछ की तो ग्रामीणों की उत्सुकता बढ़ गई, लेकिन कई घंटे की मेहनत के बाद भी डाकिया को भोलेनाथ और हनुुमान जी का घर नहीं मिला और वो इन पत्रों की डिलीवरी नहीं कर पाया.

उसके बाद गांव के सुरेंद्र और आरडी मिश्रा ने डाकिया को सुझाव दिया कि परवाना लेकर मंदिर चले जाओ. पुजारी जी इस पर कुछ बता पाएंगे. इसके बाद डाकिया सीधे गांव में स्थित हनुमान मंदिर पहुंच गया. मंदिर के पुजारी कमला प्रसाद को उसने परवाना देने की कोशिश की, मगर पुजारी ने इस पत्र को लेने से साफ इंकार कर दिया. घंटों समझाने के बाद भी जब पुजारी ने परवाना स्वीकार नहीं किया तो डाकिया थक हार वापस लौट गया.

इस महिला ने 9 मिनट में दिया 6 बच्चों को जन्म, जानिए कहां हुई ये अनोखी घटना

First published: 17 March 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी