Home » उत्तर प्रदेश » Raising slogans of UP independence, country will come under malign category: Yogi Adityanath
 

यूपी आज़ादी के नारे लगाना देश द्रोह की श्रेणी में आएगा : योगी आदित्यनाथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2020, 10:04 IST

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि प्रदेश में आज़ादी के नारे लगाना देशद्रोह माना जायेगा. उन्होंने कहा सरकार ऐसे नारे लगाने वालों पर सख्त एक्शन लेगी. विरोध प्रदर्शनों की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि यह शर्मनाक है कि पुरुष अपने घरों में आराम से बैठते हैं और महिलाओं और बच्चों को सड़कों पर आंदोलन के लिए भेजते हैं.

मुख्यमंत्री ने कानपुर में नागरिकता कानून के समर्थन में भाजपा की एक रैली को संबोधित करते हुए कहा ''उत्तर प्रदेश की धरती पे मैं इस बात को कहना चाहूंगा. धरना प्रदर्शन के नाम पर कश्मीर में जो कभी आज़ादी के नारे लगते थे, अगर इस प्रकार के नारे लगाने का कार्य करोगे, तो ये देशद्रोह की श्रेणी में आएगा और फिर सरकार इस पर कठोरतम कार्रवाई करेगी. ये स्वीकार्य नहीं हो सकता है.''

CAA को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शनों की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा ''यह 'शर्मनाक' है कि पुरुष अपने घरों में आराम से बैठते हैं और महिलाओं और बच्चों को सड़कों पर आंदोलन के लिए भेजते हैं''.

 

महिलाएं नए नागरिकता कानून के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन कर रही हैं. उत्तर प्रदेश में लखनऊ के घंटाघर और गोमती नगर और प्रयागराज में मंसूर अली पार्क में विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं. मुख्यमंत्री ने लोगों से विरोध स्थलों पर जाने और महिला प्रदर्शनकारियों से यह पूछने के लिए भी कहा कि वे विरोध क्यों कर रहे हैं.

उन्होंने विपक्षी दल सपा, कांग्रेस और वाम दलों पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा "कांग्रेस, सपा और वाम दलों के लिए यह कितना शर्मनाक है कि देश को दांव पर लगाकर राजनीति की जाए और विरोध के ऐसे तरीके अपनाए जाएं जहां महिलाओं को सामने रखा जाए, जिन्हें सीएए के बारे में भी जानकारी नहीं है.

26 जनवरी से पहले थी बड़े आतंकी हमले की साजिश, DIA के इनपुट से हुआ खुलासा

 

First published: 23 January 2020, 10:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी