Home » उत्तर प्रदेश » RSS will host namaz along the Saryu river in Ayodhya on July 12, say reports
 

अयोध्या में सरयू के तट पर गूंजेगी क़ुरान, RSS करवाने का रहा है मौलानाओं भव्य आयोजन

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 July 2018, 12:25 IST
(AP )

अयोध्या में सरयू नदी के तट पर कुरान पाठ के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और इसका विंग राष्ट्रीय मुस्लिम मंच एक नमाज कार्यक्रम का आयोजन करने जा रहे हैं. न्यूज़ 18 की रिपोर्ट के अनुसार इस आयोजन को भारतीय जनता पार्टी की राज्य सरकार का पूरा समर्थन है. कई हिंदू भक्तों के साथ इस कार्यक्रम में लगभग 1,500 मुस्लिम इसमें भाग लेंगे.

इस दौरान मौलाना अयोध्या में सूफी संतों के लगभग 200 मकबरे भी देखेंगे. मौलाना पहले 'वजू' करेंगे और फिर नमाज पढ़ेंगे. जिसके बाद कुरान से छंदों को नदी के तट पर लगभग 5 लाख बार सुनाया जाएगा.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक लखनऊ विश्वविद्यालय में इस्लामिक स्टडीज के प्रोफेसर और मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के वरिष्ठ नेता शबाना आज़मी का कहना है कि ''अयोध्या को इस धारणा से अपमानित किया गया है कि यहां मुस्लिमों को उनके धार्मिक अधिकारों का पालन करने की इजाजत नहीं है''.

आज़मी ने कहा ''दूसरी गलतफहमी यह है कि आरएसएस मुसलमानों के खिलाफ है. यह आयोजन दुनिया को एक संदेश देने का प्रयास है कि अयोध्या हिंदुओं और मुसलमानों दोनों के लिए एक जगह है. आरएसएस मुस्लिमों का एक सच्चा दोस्त है. हिंदुओं और मुस्लिम दोनों एक ही डीएनए है''.

राष्ट्रीय मुस्लिम मंच महादीरवाज के संयोजक ने न्यूज़ 18 को बताया कि मौलाना राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद के चल रहे विवाद के बावजूद सांप्रदायिक सद्भाव और हिंदुओं और मुसलमानों के बीच शांति के लिए प्रार्थना करेंगे." रिपोर्ट में कहा गया है कि कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण और आरएसएस नेता मुरारी दास इस समारोह में मुख्य अतिथि होंगे.

ये भी पढ़ें : आंगनवाड़ी में बांटे गए 'गाय और सुअर के मांस से निर्मित' पुष्टाहार के पैकेट

First published: 11 July 2018, 12:19 IST
 
अगली कहानी