Home » उत्तर प्रदेश » Saharanpur vilonce- bsp chief mayawati says bhim army is the product of Bjp.
 

मायावती ने भीम आर्मी को बताया भाजपा का प्रोडक्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 May 2017, 16:58 IST
आर्या शर्मा/ कैच न्यूज़

बसपा सुप्रीमो मायावती ने सहारनपुर हिंसा के बाद चर्चा में आई भीम आर्मी पर बड़ा बयान दिया है. मायावती ने भीम आर्मी को भाजपा का प्रोडक्ट करार दिया है. मायावती ने साथ ही कहा कि उनके भाई आनंद कुमार और उनकी पार्टी का भीम आर्मी से कोई संबंध नहीं है. 

मायावती ने मीडिया से बातचीत में कहा कि भीम आर्मी से बसपा का कोई रिश्ता नहीं हैं. उनकी पार्टी ऐसे आरोपों का खंडन करती है. सहारनपुर हिंसा पर जवाब देते हुए मायावती ने कहा कि भीम आर्मी का सीधा संबध भाजपा से है. भीम आर्मी किसी और की नहीं, बल्कि भाजपा की ही उपज है. 

मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार के भीम आर्मी से रिश्तों को भी खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी और बसपा के किसी भी वरिष्ठ नेता का चंद्रशेखर और भीम आर्मी से कोई रिश्ता नहीं हैं. उन्हें बदनाम करने के लिए ऐसे आरोप लगाए जा रहे हैं.

माया के दौरे के बाद भड़की हिंसा

सहारनपुर में जातीय हिंसा के बाद प्रशासन ने पूरे शहर में धारा 144 लगाने का निर्णय किया गया है. प्रशासन ने पूरे शहर में इंटरनेट सेवाओं पर बैन लगा दिया है. इसी के साथ सरकार ने मोबाइल मैसेज पर भी रोक लगा दी है. मायावती के सहारनपुर दौरे के बाद भड़की हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गयी थी और कई लोग घायल हो गए थे.

 

सहारनपुर में कब-कब हुई हिंसा?

5 मई 2017: शब्बीरपुर गांव में दलित-ठाकुर संघर्ष, एक व्यक्ति की मौत

9 मई 2017: दलितों-पुलिस में झड़प, 9 जगह हिंसा

21 मई 2017: दिल्ली के जंतर-मंतर पर भीम सेना का प्रदर्शन

23 मई 2017: मायावती के दौरे के बाद हिंसा, एक व्यक्ति की मौत

24 मई 2017: एक व्यक्ति को गोली मारी

ऐसे हुई सहारनपुर हिंसा की शुरुआत

5 मई को महाराणा प्रताप की जयंती के मौके पर शोभायात्रा निकाली जा रही थी. इस शोभायात्रा के दौरान डीजे बजाने से रोकने पर दलितों और ठाकुरों में झड़प हुई थी. झड़प के दौरान ठाकुर समाज के एक युवक की मौत हो गई थी. घटना के बाद दलित समाज के 60 से ज्यादा मकान और कई गाड़ियां जला दी गई थीं.

First published: 25 May 2017, 16:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी