Home » उत्तर प्रदेश » SP alleged damages inside the akhilesh yadav bungalow done on order by cm yogi
 

'सीएम योगी के कहने पर अखिलेश यादव के बंगले को किया गया तहस-नहस'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2018, 8:35 IST

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा खाली किए गए सरकारी बंगले में हुई तोड़फोड़ को लेकर सरकार और सपा के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है. समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार पर अखिलेश यादव को बदनाम करने का आरोप लगाया है. 

समाजवादी पार्टी के एमएलसी सुनील यादव ने रविवार को योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगले में तोड़फोड़ सीएम योगी के आदेश पर हुई है. सपा का कहना है कि उपचुनावों में हार से हताश योगी आदित्यनाथ इस मुद्दे के जरिए अखिलेश यादव की छवि जनता में खराब करना चाहते हैं.

 

बता दें कि बीते शनिवार को अखिलेश यादव ने 4 विक्रमादित्य मार्ग स्थित अपने सरकारी बंगले को खाली कर उसकी चाबी राज्य संपत्ति विभाग को सौंपी थी. इसके बाद सोशल मीडिया पर उनके बंगले के तहस-नहस की तस्वीरें सामने आई थीं. तस्वीरें सामने आने के बाद अखिलेश यादव योगी सरकार के निशाने पर आ गए हैं.

योगी सरकार में परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने बंगले में तोड़फोड़ को सुप्रीम कोर्ट की अवहेलना करार दिया था. उन्होंने कहा कि कोर्ट के आदेश पर खाली कराए गए सरकारी आवास से एसी और टाइल्स को नहीं निकालना चाहिए था, क्योंकि यह सरकारी संपत्ति है. अखिलेश यादव ने ऐसा करके कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया है. उन्होंने इस मामले की जांच की मांग की. 

 

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा, "सरकार ये काम क्यों करेगी? अखिलेश यादव ने अपनी विलासता पूर्ण जीवन छिपाने के लिए ऐसा किया है. पिछले 10 सालों में प्रदेश को लूटा गया है उसे छिपाने के लिए बंगले को तहस नहस किया गया है और रही बात OSD के बंगले तक जाने की तो उनका मंत्रालय है वहां जाने का उन्हे पूरा अधिकार है."

पढ़ें- मोदी सरकार का तोहफा, अब बिना UPSC पास किए भी बन सकेंगे अधिकारी

उन्होंने आगे कहा, "जिस तरह महंगे सामान सरकारी बंगले में लगाए गए, जब उसे खाली करने की नौबत आई तो सबकुछ छिपाने के लिए लिए ये तोड़फोड़ की गई. सरकारी बंगले को निजी बंगले में तब्दील कर दिया गया था विदेशों से विदेशी सामान मंगवाकर लगवाए गए थे. यह सच जनता के सामने न आने पाए और विलासिता पूर्ण जीवन की पोल न खुले इसलिए अखिलेश यादव ने तोड़फोड़ की. सरकार ऐसे कामों में नहीं पड़ती और सरकार पर आरोप लगाना बिल्कुल गलत है."

First published: 11 June 2018, 8:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी