Home » उत्तर प्रदेश » Traffic Rules: Now talking on the phone while driving, you will have to pay a fine of Rs 10,000
 

सावधान: अब गाड़ी चलाते समय फोन पर की बात तो 10000 रुपये देना पड़ेगा जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 July 2020, 14:27 IST

Traffic Rules: अक्सर हम देखते हैं कि लोग गाड़ी चलाते समय मोबाइल फोन पर बात करते रहते हैं. अब ऐसा करने वालों की खैर नहीं है. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अब यातायात के नियम और सख्त कर दिए हैं. यदि आपने इन नियमों का पालन नहीं किया तो आपको सजा और जुर्माना भरना पड़ सकता है.

उत्तर प्रदेश में यदि अब दोपहिया गाड़ी चलाते समय हेल्मेट न लगाया और कार चलाते समय सीट बेल्ट नहीं बांधा तो दोगुना जुर्माना भरना होगा. वहीं गाड़ी चलाते समय मोबाइल पर बात करते हुए पकड़े जाने पर आपको ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ सकती है. इसमें पहली बार पकड़े जाने पर एक हजार रुपये तथा दूसरी बार पकड़े जाने पर सीधे 10 हजार रुपये का चालान कटेगा.

योगी सरकार ने यातायात नियमों की नई अधिसूचना गुरुवार को जारी की है. प्रमुख सचिव परिवहन राजेश कुमार सिंह ने ये अधिसूचना जारी करते हुए बताया कि गलत पार्किंग की तो पहली बार 500 रुपये तथा दूसरी बार सीधा 1500 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा. वहीं फायर ब्रिगेड अथवा एंबुलेंस को रास्ता नहीं दिया तो 10 हजार रुपये का जुर्माना भरना होगा.

कोरोना वायरस पर बड़ी खुशखबरी, ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन ने बंदरों पर किया कमाल

अपनी गाड़ी को गलत ढंग से मॉडिफाई कराकर बेचने पर आप पर सीधा एक लाख रुपये का जुर्माना लगेगा. इसके अलाया यदि आपने अपनी गाड़ी को मॉडिफाई कराया तो पांच हजार रुपये का जुर्माना भरना होगा. अधिकारी के काम में बाधा डालने पर दो हजार रुपये का जुर्माना भरना होगा. ड्राइविंग लाइसेंस में गलत तथ्य पेश करने पर 10 हजार रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा.

बिना लाइसेंस अथवा 14 साल से कम उम्र के बच्चे अवैध लाइसेंस के गाड़ी चलाते पकड़े गए तो पांच हजार रुपये जुर्माना भरना होगा. ओवर स्पीड में गाड़ी चलाने पर दो हजार रुपये तथा माल वाहक गाड़ी चलाने पर चार हजार रुपये जुर्माना देना होगा. दोपहिया वाहन में तीन सवारी बैठने पर एक हजार रुपये जुर्माना देना होगा.

सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी के लिए चाहिए था 10वीं का सर्टिफिकेट, 33 बार हुए फेल, फिर आया कोरोना काल और..

बंगाल के राज्यपाल का बड़ा आरोप- ममता सरकार में हिंसा और भ्रष्टाचार शासन का हिस्सा

First published: 31 July 2020, 14:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी