Home » उत्तर प्रदेश » Unnao gang rape case: postmortem report of victim father says he was beaten cruelly and have 14 injury marks
 

उन्नाव गैंगरेप केस: पास्टमॉर्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा, पीड़िता के पिता के शरीर पर थे 14 चोट के निशान

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2018, 16:08 IST

यूपी के उन्नाव में गैंगरेप केस की पीड़िता के पिता की मौत को लेकर खौफनाक खुलासा हुआ है. रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित के पिता को पीटा गया था. पास्टमॉर्टम रिपोर्ट में शरीर में 14 जगहों पर गंभीर चोट के निशान बताये गए है. चोट इतनी गहरी थी कि भीतरी कुछ अंग फट गए थे.

रिपोर्ट के अनुसार चोट की वजह से खून का रिसाव हुआ और सेप्टीसीमिया की वजह से पीड़ित के पिता की मौत हो गई. वहीं, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने कहा कि इस केस की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है, जो उन्नाव पुलिस द्वारा दी गई रिपोर्ट की भी जांच करेगी. जरूरत पड़ी तो विधायक से भी पूछताछ की जाएगी.

पीड़िता का आरोप है कि उसके साथ 4 जून 2017 को बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर और उनके साथियों ने गैंगरेप था. जब उन्होंने बीजेपी विधायक से रेप का विरोध किया, तो उसने परिवार वालों को मारने की धमकी दी. यहां तक की थाने में रिपोर्ट भी नहीं लिखी गयी. इसके बाद तहरीर बदल दी गई.

ये भी पढ़ें- पुणे में हुई बड़ी सड़क दुर्घटना में मारे गए कर्नाटक के 18 मजदूर

 

सीएम योगी से मिलने लखनऊ गयी पीड़िता
पीड़िता उसके बाद वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने लखनऊ गई. उनसे विधायक की शिकायत की थी. उन्होंने इंसाफ का भरोसा दिलाया था, लेकिन एक साल के बाद भी इन्साफ के लिए भटक रही है. दिल्ली से उसके पिता गांव आए, तो विधायक के लोगों ने उन्हें मारा. पीटने के बाद उन्हें अपने घर के बाहर फेंक दिया.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि भाजपा विधायक सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली माखी थाना क्षेत्र के एक गांव की निवासी 18 वर्षीय लड़की के पिता को रविवार रात को जेल में पेट दर्द के साथ खून की उल्टियां शुरू हुई थीं. इस पर उसे तुरंत जिला अस्पताल के एमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया था. इलाज के दौरान तड़के लगभग तीन बजे उसकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें- Indigo की फ्लाइट में मच्छर के काटने की शिकायत पर यात्री को धक्के मारकर नीचे उतारा

मृतक की उम्र करीब 50 वर्ष थी. मृतक के परिजन ने बलात्कार के आरोपी बांगरमऊ से भाजपा विधायक सेंगर पर जेल में हत्या कराने का आरोप लगाया है. उनका इल्जाम है कि मुकदमा वापस ना लेने पर पिछले 4 अप्रैल को विधायक के भाई अतुल सिंह ने पीड़िता के पिता को मारापीटा था. पुलिस ने इसका मुकदमा दर्ज करने के बजाय उसे ही जेल भेज दिया था.

 

First published: 10 April 2018, 16:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी