Home » उत्तर प्रदेश » Unnao rape case: CBI confirmes rape charges on BJP MLA kuldeep singh sengar, 1 crore rs demanded to save him
 

उन्नाव गैंगरेप: विधायक को बचाने के लिए CBI से करा रहे सेटिंग, मांगे 1 करोड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 May 2018, 8:18 IST

उन्नाव रेप केस में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर लगे सभी आरोपों की पुष्टि हो गयी है. सीबीआई ने विधायक पर रेप के आरोपों की पुष्टि की, जिसमें पीड़िता ने कहा था कि पिछले साल 4 जून को विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने उसका रेप किया था. पीड़िता ने ये भी आरोप लगाया था कि इस दौरान उसकी महिला सहयोगी शशि सिंह कमरे के बाहर की निगरानी में खड़ी थी.

इधर विधायक को छुड़ाने के लिए उनकी पत्नी संगीता सेंगर से 1 करोड़ रुपये की मांग की गई. संगीता को कॉल करके कहा गया की बीजेपी ने सारे मामले को निपटाने के लिए सीबीआई से 'सेटिंग' कर ली है. विधायक को छुड़ाने के लिए 1 करोड़ रुपये लगेंगे. ठगों से बातचीत में मामला गड़बड़ लगने पर संगीता ने पुलिस से शिकायत की. जिसके बाद पुलिस ने तुरंत ही छानबीन शुरू कर दी. मोबाइल नंबर के आधार पर हुई पुलिस जांच में पता चला कि ठग देवरिया खुर्द के विजय रावत और गोसाईंगंज के दुर्गामऊ निवासी आलोक द्विवेदी हैं.  जिन्हे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया.

ये भी पढ़ें- RSS ने PM मोदी को लिखा लेटर, मेक-इन-इंडिया को मार देगी Flipkart-Walmart डील

 

क्या था मामला

दोनों ठगों ने टीवी चैनल और अखबारों में विधायक के पकड़ने और उसके परिवारीजनों के निर्दोष बताने की खबरें देखकर ठगी की साजिश रची. उनमे से एक ने 5 मई को विधायक की पत्नी संगीता सिंह को कॉल करके कहा कि, ‘आपके पति की सीबीआई जांच कर रही है. मैं भाजपा नेता बोल रहा हूं. विधायक को सीबीआई के शिकंजे से बचा सकता हूं.’

इस पर संगीता ने छुड़ाने का तरीका पूछा तो ठगों ने कहा कि सीबीआई अफसरों से उनकी सेटिंग है. इसके लिए एक करोड़ रुपया देना होगा. ज्यादा पूछने पर उन्होंने कहा कि ‘विधायक का मामला खत्म करने के लिए ऊपर से आदेश है’

पुलिस ने हाई-फाई मामले में तुरंत जांच करते हुए ठगों को गिरफ्तार कर लिया.

First published: 11 May 2018, 7:50 IST
 
अगली कहानी