Home » उत्तर प्रदेश » UP: Agra People rescued a woman who was going to hang herself for liberation
 

बुराड़ी जैसी एक और घटना होते-होते टली, मुक्ति पाने के लिए फंदे से लटकी थी महिला

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 July 2018, 12:15 IST

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में बुराड़ी जैसा कांड होते-होते बच गया. घटना शुक्रवार की है, जब एक समागम सत्संग में अंधविश्वास की शिकार 45 साल की महिला ने अपनी साड़ी का फंदा बना कर उस पर लटक गई. सत्संग में पास बैठे लोगों की जब उस पर नजर पड़ी और उन्होंने उसे बचा लिया. इस दौरान फंदे से उतारे जाने पर भी महिला बोलती रही, "मुझे मत रोको, मैं मुक्त होना चाहती हूं" 

ये भी पढ़ें-यूपी: योगी सरकार ने प्लास्टिक पर लगाया बैन, इस्तेमाल करने पर 50,000 का लगेगा जुर्माना

इसकी सूचना मिलने पर जब घटना स्थल पर पुलिस पहुंची तो उसने खुदकुशी करने को लेकर आमादा महिला को समझाकर उसे घर भेज दिया. आगरा के यमुना ब्रिज की रहने वाली महिला मलपुरा क्षेत्र में गांव भांडई में सत्संग सुनने के लिए गई थी. यहां पांच दिवसीय सत्संग चल रहा है.

इस दौरान वह लगातार कह रही थी, "मुझे मत बचाओ, मैं मर नहीं रही हूं, मुक्त हो रही हूं."  पुलिस ने महिला को समझाया कि ऐसा करना अपराध है. मुक्ति चाहिए तो भक्ति करो, इस पर महिला शांत हो गई.

ये भी पढ़ें-उन्नाव में इंसानियत शर्मसार: वो मिन्नतें करती रही, दरिंदे जबरदस्ती करते रहे, वीडियो वायरल

गौरलतब है कि अभी कुछ ही दिन पहले दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों ने एक साथ फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी.  जिसके बाद इस मामलें की जांच में पता चला की परिवार वालों ने मुक्ति की चाह में अात्महत्या की थी. हालांकि इस मामलें में जांच अभी चल ही रही है.

First published: 8 July 2018, 12:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी