Home » उत्तर प्रदेश » UP Bar council chairman Darvesh Yadav assault murder Maya and Akhilesh Yadav criticises Yogi government
 

यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की गोली मारकर हत्या, साथी वकील ने उतारा मौत के घाट

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 June 2019, 9:19 IST

यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की बुधवार को आगरा में गोली मारकर हत्या कर दी गई. वह दो दिन पहले ही बार काउंसिल की अध्यक्ष चुनी गई थीं. पुलिस के मुताबिक, दरवेश यादव की हत्या उनके ही एक सहयोगी मनीष शर्मा ने की है. बताया जा रहा है कि दरवेश को गोली मारने के बाद मनीष शर्मा ने खुद को भी गोली मार ली है. हालांकि इस घटना में उनकी जान बच गई लेकिन वह गंभीर रूप से घायल हो गए. बताया जा रहा है कि कोर्ट परिसर में दोनों के बीच किसी बात पर बहस हो गई थी जिसके बाद मनीष ने अपनी लाइसेंसी पिस्‍तौल से गोली चला दी.

पुलिस के मुताबिक, मनीष शर्मा ने दरवेश यादव को तीन गोलियां मारी. मनीष शर्मा ने दरवेश यादव को उस वक्त गोली मार दी जब वह आगरा कोर्ट परिसर में एक स्‍वागत समारोह में हिस्सा लेने पहुंची थीं. आगरा जोन के एडीजी अजय आनंद ने बताया कि, ''मुझे सूचना मिली कि कोर्ट परिसर में दरवेश यादव के स्वागत में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था और इसी कार्यक्रम के दौरान इनके सहयोगी और प्रतिनिधि के रूप में काम कर चुके वकील मनीष शर्मा ने गोली मार दी. दरवेश को गोली मारने के बाद मनीष ने खुद को भी गोली मार ली. दरवेश को तत्काल पुष्पांजलि हॉस्पिटल लाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका.”

दरवेश यादव की हत्या के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा मुखिया अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधा है. दोनों नेताओं ने दरवेश की मौत पर संवेदना व्यक्त करते हुए राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाएबसपा सुप्रीमो मायावती ने एक ट्वीट कर लिखा, ''यूपी बार कौन्सिल की नवनिर्वाचित अध्यक्ष दरवेश यादव की आगरा कोर्ट परिसर में जघन्य हत्या अति-दुःखद व अति-निन्दनीय. साथ ही शामली में पुलिस द्वारा पत्रकारों की अकारण पिटाई जैसी घटनायें साबित करती हैं कि लोकसभा चुनाव के बाद बीजेपी के शासन में अराजकता व जंगलराज और भी ज्यादा बढ़ गया है.''

वहीं सपा मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा, ''प्रदेश में बलात्कार, हत्याओं व राजनीतिक हमलों की वारदातें बढ़ती ही जा रही हैं. मुख्यमंत्रीजी मीटिंग पर मीटिंग ले रहे हैं लेकिन कानून-व्यवस्था बद-से-बदतर होती जा रही है. आगरा में बार काउंसिल की अध्यक्षा को गोली मारने से ये साबित हो गया है कि अब हालात काबू से बाहर हो चुके हैं.''

सपा मुखिया ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, ''सीएम बैठक पर बैठक कर रहे है. अपराधी अपराध पर अपराध! आगरा में बार काउंसिल अध्यक्ष की हत्या कानून व्यवस्था पर सुलगता सवाल. दुखद!

उत्तर प्रदेश के एटा जिले की रहने वाली दरवेश यादव यूपी बार काउंसिल के इतिहास में पहली महिला अध्यक्ष बनी थीं. यूपी बार काउंसिल का चुनाव रविवार को ही प्रयागराज में हुआ था. दरवेश सिंह यादव और हरिशंकर सिंह को बराबर 12-12 वोट मिले थे. दरवेश सिंह यादव के नाम एक रिकॉर्ड यह भी है कि बार काउंसिल के 24 सदस्यों में वे अकेली महिला थीं.

First published: 13 June 2019, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी