Home » उत्तर प्रदेश » up bypoll 2018: polling starts in loksabha bypolls of gorakhpur and phulpur seat,tough fight between bjp abd sp
 

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर मतदान शुरू, भाजपा-सपा में से किसे चुनेगी सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 March 2018, 8:25 IST

उत्तर प्रदेश की गोरखपुर और फूलपुर सीट पर लोकसभा उपचुनाव के लिए मतदान रविवार सुबह 7 बजे से शुरू हो गया है. इन सीटों में कड़े सुरक्षा व्यवस्था इंतजामों के बीच वोटिंग कराई जा रही है. इस बार इन सीटों पर मुकाबला दिलचस्प हो गया है. 

भाजपा और सपा के बीच दोनों सीटों में कड़ी टक्कर हो सकती है. बसपा के सपा को बाहर से समर्थन देने के ऐलान के बाद यहां मुकाबला दिलचस्प हो गया है. कांग्रेस इन सीटों पर अकेले चुनाव लड़ रही है. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि जनता किस पार्टी के साथ खड़ी होती है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुबह गोरखपुर में अपने मतदान का प्रयोग किया. उन्होंने वोट देने के बाद कहा कि राज्य में सुशासन और विकास के लिए भाजपा ज़रूरी है. गौरतलब है कि वो गोरखपुर सीट से वो पांच बार लगातार सांसद रहे हैं. उन्होंने राज्य की बागडोर संभालने के बाद इस सीट से इस्तीफा दिया है.

वहीं इलाहाबाद में आने वाली फूलपुर लोकसभा सीट आजादी के बाद से ही खास रही है. कभी यहां से देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू कांग्रेस की तरफ से चुनाव लड़ते थे. साल 2014 में केशव प्रसाद मौर्य भाजपा के टिकट पर  यहां से पहली बार जीते थे. भाजपा किसी भी हाल में इस सीट को नहीं खोना चाहती है. 

राज्य के सीएम और डिप्टी सीएम के लोकसभा क्षेत्र के कारण ये सीट भाजपा के लिए नाक का सवाल है. वहीं अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए ये और भी खास है. बसपा और सपा का जो गठजोड़ इस सीट पर दिख रहा है कि अगर यहां वो सफल हो जाएगा तो यूपी की राजनीति में बड़े फेरबदल देखे जा सकते हैं. 

गोरखपुर और इलाहाबाद के फूलपुर में पांच-पांच विधानसभा सीटें हैं. गोरखुपर में 970 मतदान केंद्रों व 2141 मतदेय स्थलों और फूलपुर में 793 मतदान केंद्रों व 2059 मतदेय स्थलों पर मतदान हो रहा है.

गौरतलब है कि गोरखपुर लोकसभा सीट से भाजपा ने उपेन्द्र शुक्ला को टिकट दिया है. वहीं समाजवादी पार्टी ने इस सीट से निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद के बेटे प्रवीण निषाद को अपना प्रत्याशी बनाया है. कांग्रेस ने सुरहिता करीम चैटर्जी को अपना उम्मीदवार बनाया है.

इसके अलावा कांग्रेस की परपंरागत फूलपुर लोकसभा सीट की बात करें तो भाजपा ने युवा नेता कौशलेंद्र पटेल को टिकट दिया है. समाजवादी पार्टी ने नागेन्द्र पटेल और कांग्रेस ने मनीष मिश्रा को उम्मीदवार बनाया है. जेल में बंद माफिया डॉन अतीक अहमद ने भी निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर इन चुनावों में पर्चा भरा है. ऐसे में इन सीटों पर सीधा मुकाबला भाजपा-सपा और कांग्रेस के बीच है. इसे जानकार लोग 2014 लोकसभा चुनावों का सेमीफाइनल भी मान रहे हैं.

First published: 11 March 2018, 8:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी