Home » उत्तर प्रदेश » up cabinet minister om prakash rajbhar attacks over yogi government
 

योगी के मंत्री का भाजपा पर वार- 325 सीटों के नशे में पागल होकर घूम रहे हैं

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 March 2018, 11:16 IST

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव हारने के बाद एनडीए गठबंधन में बगावत की चिंगारी फूटने लगी है. यूपी की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री अोमप्रकाश राजभर ने ही अपनी सरकार पर निशाना साधा है. ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि 'मैंने अपनी चिंता कई बार जताई है लेकिन ये लोग 325 सीटें लेकर पागल होकर घूम रहे हैं.' बता दें कि ओमप्रकाश राजभर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष है और यूपी सरकार में एनडीए के साथ उनका गठबंधन है.

गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रही बीजेपी- राजभर

यूपी के कैबिनेट मंत्री राजभर ने कहा कि वो एनडीए का हिस्सा हैं, लेकिन बीजेपी गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रही है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार का सारा ध्यान सिर्फ मंदिर पर है, न कि गरीबों के कल्याण पर. जिन्होंने वोट देकर सत्ता दी है. बातें बहुत होती हैं लेकिन जमीनी तौर पर बहुत कम काम हुआ है

बता दें कि ओमप्रकाश राजभर इससे पहले रविवार को राज्यसभा चुनाव में बीजेपी के समर्थन के सवाल पर भी निशाना साधा था. राजभर पहले भी अपनी अपनी सरकार पर सवालिया निशान उठा चुके हैं. उन्होंने हाल ही में गोरखपुर और फूलपुर में हुए लोकसभा उपचुनाव में प्रत्याशी चुने जाने पर भी सवाल उठाए.

उपचुनाव में प्रत्याशी तय करने के लिए नहीं ली सलाह- ओपी राजभर

राजभर ने कहा कि “हालांकि हम अभी भाजपा के साथ गठबंधन में हैं, लेकिन सवाल यह है कि क्या भाजपा ने राज्यसभा और गोरखपुर तथा फूलपुर लोकसभा सीटों के उपचुनाव के लिए अपने प्रत्याशी तय करने से पहले हमसे कोई सलाह ली थी?” राजभर ने कहा कि भाजपा ने नगरीय निकाय चुनाव में अपने प्रत्याशी खड़े किए, लेकिन क्या तब उसने गठबंधन धर्म निभाया? यहां तक कि लोकसभा उपचुनाव में भी भाजपा ने अपने सहयोगी दलों से यह नहीं पूछा कि उपचुनाव में उनकी क्या भूमिका होगी.

कैबिनेट मंत्री राजभर ने कहा कि गोरखपुर में हाल में हुए लोकसभा उपचुनाव में उनकी पार्टी भाजपा को कम से कम 30,000 वोट दिलवा सकती थी, लेकिन ऐसा लगता है कि भाजपा की नजर में हमारी कोई उपयोगिता नहीं है. वहीं उनके विधायकों के क्रॉस वोटिंग करने के सवाल पर कहा कि हम भाजपा के साथ गठबंधन में हैं और अगर वह गठबंधन धर्म नहीं निभाती है तो क्या हमें उसके साथ जाना चाहिए?

राजभर के इन बयानों से साफ पता चलता है कि एनडीए में शामिल अन्य पार्टियां भी बीजेपी से बगावत करने पर उतारू हो गई है. जिसका खामियाजा 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को उठाना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस महाधिवेशन : राहुल गांधी बोले-कौरवों की तरह BJP, RSS को सत्ता के लिए तैयार किया गया है

First published: 19 March 2018, 11:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी