Home » उत्तर प्रदेश » up cm yogi adityanath attacks on criminals says those who understand the language of gun should reply in same languages
 

योगी आदित्यनाथ की चेतावनी- बंदूक की भाषा समझने वालों को बंदूक से दिया जाएगा जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 February 2018, 9:50 IST

लगभग एक साल पहले सत्ता संभालने के बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का फोकस राज्य की कानून व्यवस्था सुधारने पर है. इसके लिए वह अपराधियों को उन्हीं की भाषा में जबाव देने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं. इसी को लेकर योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बंदूक की भाषा समझने वालों को उसी भाषा में जवाब दिया जाना चाहिए.

अपने गृहक्षेत्र गोरखपुर में गोरखपुर विकास प्राधिकरण के नए भवन के उद्घाटन के लिए पहुंचे सीएम योगी ने अपराधियों को खुली चेतावनी दी. उन्होंने कहा है कि जो बंदूक की भाषा समझते हैं उन्हें बंदूक से ही जवाब मिलेगा.

उन्होंने कहा, ''सुरक्षा की गारंटी हर व्यक्ति को मिलनी चाहिए. लेकिन जो लोग समाज का माहौल बिगड़ना चाहते हैं. जिन लोगों को बंदूक की नोक पर विश्वास है. उन्हें बंदूक की ही भाषा में जवाब देना होगा. विकास में, कानून व्यवस्था के मामले में जो कोई भी आड़े आयेगा, हम लोग कानून के दायरे में रहकर के ऐसे लोगों से निपटेंगे.'' उन्होंने कहा कि यह मैं प्रशासन से कहूंगा कि इसमें घबराने की आवश्यकता नहीं है.

 

परोक्ष रूप से समाजवादी पार्टी पर हमला करते हुए उन्होंने कहा, 'लाल टोपी पहनकर किसी को भी अराजकता फैलाने की छूट नहीं दी जा सकती है. संसदीय मर्यादा तार-तार करने की छूट नहीं दी जा सकती. मैं सलाह दूंगा कि समय रहते सुधरें नहीं तो प्रदेश की जनता उन्हें सुधार ही रही है.'

 

आंकड़े भी देते हैं गवाही
गौरतलब है कि सीएम योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद यूपी में एनकाउंटर तेज हुए हैं. योगी के सीएम बनने के बाद 2017 में 28 कुख्यात बदमाश ढेर किए गए. वहीं 2018 में मात्र 40 दिन में 8 बड़े कुख्यात अपराधी मार गिराए गए हैं. साल 2017 में जहां यूपी पुलिस ने औसतन हर 12वें दिन एक बदमाश को मार गिराया. वहीं 2018 के आंकड़ों पर गौर करें तो यूपी पुलिस ने हर 5वें दिन एक अपराधी का सफाया किया है.

 

First published: 9 February 2018, 9:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी