Home » उत्तर प्रदेश » up cm yogi adityanath has issued a notice on the occasion of Eid, no selfies with goats
 

योगी आदित्यनाथ का फरमान, बकरीद पर बकरे के साथ NO SELFIE

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 August 2018, 12:22 IST

आज पूरे देश में बकरीद मनाई जा रही है और इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक नोटिस जारी कर दिया है. योगी ने पुलिस प्रशासन को निर्देश देते हुए कहा है कि राज्य में कहीं भी खुले में कुर्बानी नहीं दी जाएगी और कुर्बानी वाले पशु के साथ सेल्फी लेना भी वर्जित है. अगर इस तरह का कोई भी मामला सामने आया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

इसी कड़ी में योगी ने आगे कहा कि कुर्बानी देने के बाद नालियों में खून भी नहीं बहना चाहिए. बता दें कि ईद के बाद कुछ लोग कुर्बानी दिए गए बकरे के साथ सेल्फी लेते हैं और उन्हें बाद में सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं. मुख्यमंत्री ने प्रशासन से राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने की अपील भी की है. इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि हम इस बात का ध्यान रखेंगे कि हमारे त्यौहार से दूसरे समुदाय की भावनाएं आहत ना हों. 

ये है ईद उल अजहा की कहानी

बताया जाता है कि हजरत इब्राहीम के परिवार में उनकी पत्नी हाजरा और पुत्र इस्माइल थे. एक बार हजरत इब्राहीम ने ख्वाब में देखा कि वह खुदा की राह में अपने पुत्र इस्माइल की कुर्बानी दे रहे थे. इस ख्वाब को देखने के बाद हजरत इब्राहीम अपने दस साल के बेटे इस्माइल को कुर्बान करने के लिए तैयार हो गए.

पुरानी इसलामिक कहानियों के मुताबिक जब वो इस्माइल को कुर्बान करने लगे तो पुत्र मोह में हाथ बहक ना जाए, इसलिए उन्होंने अपनी आंखें बंद कर लीं. जब आंख खुली तो उन्होंने देखा कि इस्माइल एकदम सही सलामत हैं, और अल्लाह ने उसकी जगह एक बड़े जानवर की कुर्बानी स्वीकार कर ली. तब से इस दिन अपनी सबसे प्रिय चीज को कुर्बान करने की परंपरा शुरू हुर्इ.

ये भी पढ़ें: Eid Al Adha 2018 : जानिए क्यों दी जाती है कुर्बानी और क्या है इस दिन का महत्व

First published: 22 August 2018, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी