Home » उत्तर प्रदेश » UP Cm yogi adityanath refuses to wear muslim topi in mazar
 

PM मोदी की तरह CM योगी ने भी मजार पर मौलवी के हाथों मुस्लिम टोपी पहनने से किया इनकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 June 2018, 12:38 IST
modi-yogi

गुजरात चुनाव से पहले साल 2011 में तत्कालीन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सद्भावना उपवास के दौरान एक मुस्लिम मौलाना की ओर से दी गई टोपी नहीं पहनी थी. अब कुछ ऐसा ही उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया है. इसके बाद सवाल उठने लगे हैं कि क्या योगी भी पीएम मोदी की राह पर निकल पड़े हैं. योगी के इस फैसले के बाद एक बार फिर सियासत गरमा सकती है. 

बुधवार (27 जून) को संत कबीर नगर के मगहर में कबीर की मज़ार पर पहुंचे योगी अादित्यनाथ को मजार के एक मौलवी ने जैसे ही मुस्लिम टोपी पहनाने की कोशिश की, वैसे ही योगी ने मौलवी का हाथ पकड़कर टोपी को दूर कर दिया. इस घटना ने पीएम मोदी की घटना की याद दिला दी.

बता दें कि आज 28 जून को कबीर की 500वीं पुण्यतिथि है. इस मौके पर कबीर की मजार पर पीएम मोदी का कार्यक्रम है. इससे एक दिन पहले सीएम योगी मजार पर तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे थे. आज पीएम मोदी संत कबीर नगर में होंगे. यहां वो कबीर एकेडमी रिसर्च संस्थान की आधारशिला रखेंगे. इस दौरान पीएम एक रैली को भी संबोधित करेंगे. साथ ही कबीर की मज़ार चादर भी चढ़ाएंगे.

दरअसल, इलाके में मंगलवार को हुई भारी बारिश की वजह से प्रधानमंत्री के प्रस्तावित रैली स्थल में जलभराव हो गया है, जिसे खत्म करने के लिये युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है. भाजपा के जोनल उपाध्यक्ष सत्येन्द्र सिन्हा ने बताया कि प्रधानमंत्री ने 2014 में गोरखपुर की गोरक्षपीठ से एक संदेश दिया था, जिसके सकारात्मक परिणाम रहे थे, उसी तरह वह इस बार कबीर दास की निर्वाण स्थली से संदेश देंगे.

पढ़ें- PM मोदी को वादा याद दिलाने ओडिशा से 1400 किमी पैदल चलकर दिल्ली आए शख्स को मुलाकात का इंतजार

सिन्हा ने बताया कि राज्य के सात पूर्वी जिलों की जनता से पार्टी कार्यकर्ता संपर्क कर रहे हैं. जनसभा में विशाल जनसमूह आने की उम्मीद है. सिन्हा के अनुसार, भाजपा यूपी में चुनावी वर्ष होने के कारण और रैलियों का आयोजन करने की योजना बना रही है.

First published: 28 June 2018, 9:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी