Home » उत्तर प्रदेश » UP- Cm yogi adityanath writes a reminder letter to all ministers to dislose their income.
 

योगी अपने मंत्रियों से क्यों हैं नाराज़ ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 April 2017, 14:18 IST

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जब से सीएम बने हैं तब से एक्शन मोड में हैं. सीएम का पद संभालने के बाद उन्होंने अपने मंत्रियों को जल्द अपनी संपति का ब्यौरा देने को कहा था. इसमें उनकी चल और अचल संपति दोनों है . इसके साथ ही उन्होंने सभी मंत्रियों से जल्द इनकम टैक्स दने को कहा था. सूत्रों के मुताबिक सीएम योगी के इस आदेश के बाद भी योगी के 13 मंत्रियों ने अपनी संपत्ति का खुलासा नहीं किया था. जिससे सीएम योगी आदित्यनाथ बहुत नाराज़ चल रहे हैं.

ताज़ा जानकारी के मुताबिक यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों को फिर एक पत्र लिखकर याद दिलाया है कि वो जल्द अपनी संपत्ति का ब्योरा दें. मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों को बुधवार तक ब्यौरा देने का अल्टीमेटम दिया है. इसके अलावा उन्होंने मंत्रियों को लिखे पत्र में कुछ हिदायतें भी दी हैं.

ना लें 5 हज़ार से ज्यादा के गिफ्ट

योगी ने अपने मंत्रियों से कहा है कि वो 5 हज़ार से ज्यादा का गिफ्ट ना लें. इसके अलावा मंत्रियों को बेवजह की दावतें ना करने की सलाह भी दे गयी है.

आडम्बर से बचने की सलाह

सीएम ने पत्र के माध्यम से सभी मंत्रियों को कहा है कि वो शासकीय दौरे में निजी आवास या फिर सर्किट हाउस में ठहरने की सलाह के साथ साथ कहा कि सभी मंत्रियों को किसी भी आडम्बर से बचने की सलाह भी दी है.

यूपी के सीएम ने अपने मंत्रियों से कहा है कि वो  हर साल 31 मार्च तक परिसंपत्तियों का ब्यौरा दें. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी तीसरी कैबिनेट की बैठक आज बुलाई है . ये बैठक शाम को पांच बजे होने वाली है.

कैबिनेट की बैठक में सीएजी की ऑडिट रिपोर्ट को मंजूरी मिल सकती है. सीएजी की रिपोर्ट में अलग-अलग विभागों का ब्यौरा होता है जिसे मंजूरी के बाद विधानसभा सत्र में रखा जा सकता है.

आज होने वाली मीटिंग में नई तबातला नीति भी रखी जा सकती है. नई नीति में जिले में जमे अफसरों के लिए सीमा पांच साल और मंडल में जमे अफसरों के लिए सात साल करने की तैयारी है. इसके साथ ही गोरखपुर मेट्रो की डीपीआर तैयार करने को भी मंजूरी कैबिनेट बैठक में दी जा सकती है.

First published: 18 April 2017, 14:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी