Home » उत्तर प्रदेश » Sentenced to 15 years in the case of gang rape with dalit woman
 

गैंगरेप पीड़ित दलित को 15 साल बाद मिला इंसााफ़, अभियुक्तों को 15 साल की क़ैद

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 December 2016, 15:19 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की एक अदालत ने करीब 15 साल पहले एक दलित महिला के साथ हुए बलात्कार के मामले में दो आरोपियों को 15-15 साल की सश्रम कैद और जुर्माने की सजा सुनाई है. 

अभियोजन पक्ष के अनुसार 10 नवम्बर 2001 को नरैनी कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में एक दलित महिला से ओमप्रकाश तिवारी और राजकरन तिवारी नामक व्यक्तियों ने बलात्कार किया था. इस मामले में पीड़िता के पति की तहरीर पर नरैनी पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर अदालत में दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 376, 506 और एससी/एसटी एक्ट के तहत आरोप पत्र दाखिल किया था.

विशेष न्यायाधीश (एससीएसटी एक्ट) डीपीएन सिंह की अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपियों ओमप्रकाश और राजकरन को बलात्कार का दोषी मानते हुए 15-15 साल की कैद और 21-21 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनायी. जुर्माने की राशि में से 20 हजार रुपये पीड़िता को मिलेंगे.

First published: 21 December 2016, 15:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी