Home » उत्तर प्रदेश » UP: Hospital not accepted 1000 INR note, new born baby dead
 

यूपी: अस्पताल ने नहीं लिया 1000 का नोट, नवजात की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 November 2016, 12:08 IST
(एजेंसी)

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से मानवता को शर्मसार करने वाली खबर है. मोदी सरकार ने नौ नवंबर से पुराने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर दिए हैं, हालांकि अस्पताल, पेट्रोल पंप, रेलवे और एयर टिकट के लिए 11 नवंबर तक छूट मिली है. 

इसके बावजूद यूपी में एक अस्पताल के रवैए से नवजात की मौत हो गई. बुलंदशहर के खुर्जा में एक परिवार ने आरोप लगाया है कि एक प्राइवेट अस्पताल में जब वो महिला के प्रसव के लिए पहुंचे तो अस्पताल प्रशासन ने उनसे 1000 के नोट लेने से इनकार कर दिया, जिसकी वजह से नवजात की मौत हो गई.

बताया जा रहा है कि खुर्जा के रहने वाले अभिषेक अपनी पत्नी एकता का प्रसव कराने के लिए प्राइवेट अस्पताल कैलाश पहुंचे.

अभिषेक ने बताया कि अस्पताल प्रशासन ने उनसे 10,000 रुपये जमा कराने के लिए कहा. उसके बाद जब वो पैसे लेकर काउंटर पर पहुंचे तो अस्पताल वालों ने 1000 के नोट के बंद होने का हवाला देते हुए पैसे लेने से मना कर दिया.

इस पर अभिषेक अस्पताल वालों से मिन्नतें करने लगा कि वो बाद में बदल कर ला देगा फिलहाल इसे जमा कर लिया जाए. अभिषेक के मुताबिक अस्पताल ने एक नहीं सुनी और पत्नी की डिलीवरी में देरी की वजह से उसकी बच्ची की मौत हो गई.

वहीं दूसरी ओर कैलाश अस्पताल ने अभिषेक के इन आरोपों को ख़ारिज किया है. इस मामले में अस्पताल का कहना है कि बच्ची पहले से ही मृत थी.

इसके अलावा अस्पताल ने इस बात से भी इनकार किया है कि उनके द्वारा अभिषेक से 1000 के नोट लेने से मना किया गया था.

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने 500 और 1000 रुपये के नोट के बंद करने की घोषणा के साथ ही कहा था कि सभी अस्पतालों और अन्य आवश्यक संस्थानों में 500 और 1000 के नोट स्वीकार्य होंगे, लेकिन कई जगहों से ख़बरें आ रही हैं कि निजी अस्पताल पुराने नोटों को लेने में आनाकानी कर रहे हैं.

First published: 10 November 2016, 12:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी