Home » उत्तर प्रदेश » UP Jaunpur government doctor demands charge of 1000 rs for treatment of old dalit man dies
 

यूपी के डॉक्टर की शर्मनाक करतूत, कहा- तुम दलित हो, टच करने के लगेंगे एक हजार

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 May 2018, 10:51 IST
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश में एक सरकारी डॉक्टर की शर्मनाक करतूत सामने आई है. यूपी के इस डॉक्टर ने मरीज को छूने से इनकार कर दिया. इसकी पीछे जो वजह थी वो बेहद चौंकाने वाली थी. इतना ही नहीं सरकारी अस्पताल के इस डॉक्टर ने मरीज को छूने से तो इनकार किया ही साथ में उसे स्ट्रेचर से भी धक्का दे दिया.

पूरा मामला यूपी के जौनपुर जिले का है. जहां पीड़ित मरीज के रिश्तेदारों ने सरकारी अस्पताल के डॉक्टर पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, जौनपुर के मछलीशहर के परसूपुर के रहने वाले केशव प्रसाद अपने पिता नरेंद्र प्रसाद की इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आए थे.

इसी बात को लेकर केशव प्रसाद का आरोप है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मछलीशहर के डॉक्टर ने उनके बुजुर्ग पिता को छूने तक से इनकार कर दिया. इतना ही नहीं, डॉक्टर ने मरीज को छूने के एवज में केशव प्रसाद और उनके परिजनों से 1000 रुपए की मांग लिए. जब डॉक्टर से मरीज को न छूने की वजह पूछी तो उसने कहा कि वो दलित है इसलिए उसे छूने के लिए 1000 रुपए लगेंगे.

इस बात को लेकर पीड़ित मरीज के बेटे केशव प्रसाद का कहना है कि बीते गुरुवार (17 मई) को वो अपने पिता को गंभीर हालत में लेकर सामुदायिक अस्पताल, मछली शहर लेकर आए थे. पिता की हालत नाजुक होने की वजह से उन्होंने खुद अस्तपाल में अपने पिता को स्ट्रेचर पर लिटाया.

इसके बाद केशव प्रसाद पिता को लेकर डॉक्टर से मिले और तुरंत उनका इलाज शुरू करने को कहा. लेकिन वहां मौजूद डॉक्टर ने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए उनका अपमान किया और मरीज को छूने से इनकार कर दिया. इसके अलावा मरीज को छूने के लिए पैसों की मांग रख दी.

ये भी पढ़ेंः Nipah वायरस पर हेल्थ मिनिस्ट्री सतर्क, परीक्षाएं स्थगित और अंतिम संस्कार के लिए जारी किया प्रोटोकॉल

मरीज के बेटे और रिश्तेदारों ने जब डॉक्टर की इस बात का विरोध किया तो सरकारी डॉक्टर भड़क गए. इसके बाद डॉक्टर ने स्ट्रेचर पर पड़े उनके पिता को जोर से धक्का दे दिया. जिसके बाद वह स्ट्रेचर से गिर गए और आघात लगने से उनके पिता की वहीं पर मौत हो गई. ये आरोप केशव प्रसाद ने लगाए हैं.

केशव प्रसाद के मुताबिक उन्होंने इस मामले में थाना मछली शहर और एसपी को सूचना दी और इस मामले में कार्रवाई की मांग की. लेकिन गजब तो तब हुआ जब यहां भी उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई. इसके बाद केशव ने सामुदायिक चिकित्सा केंद्र के डॉक्टर पर हत्या का आरोप लगाते हुए कोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल किया है. उधर, अस्पताल प्रशासन ने इस पूरी घटना से साफ इनकार कर दिया है.

First published: 25 May 2018, 10:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी