Home » उत्तर प्रदेश » up lda will demolish illegal construction of Gayatri prajapati
 

यूपी: गायत्री प्रजापति के अवैध निर्माण को गिराएगा LDA

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 April 2017, 15:07 IST

अखिलेश सरकार में मंत्री रहे रेप के आरोपी और अवैध खनन के मामले में फंसे विवादित नेता गायत्री प्रजापति एक और मुश्किल में फंसते नजर आ रहे हैं. रेप के मामले में जेल की हवा खा चुके प्रजापति को अब लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) से तगड़ा झटका लगा है.

एलडीए कोर्ट ने अपने आदेश में स्पष्ट कहा है कि प्रजापति को 15 दिन का समय दिया जा रहा है, इसके भीतर वो अवैध निर्माण को खुद ही गिरवा दें नहीं तो एलडीए अवैध निर्माण को गिरा देगा.

एलडीए कोर्ट ने अवैध निर्माण मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने एलडीए की जमीन वाले हिस्से पर हुए अवैध निर्माण पर तत्काल कब्ज़ा लेने का आदेश भी दिया है.

बताया जा रहा है कि लगभग 10 दिन पहले एलडीए की प्रवर्तन टीम ने गयात्री प्रजापति के 589/1 सालेहनगर में निर्माणाधीन दो मंजिला अवैध बिल्डिंग को सील कर दिया था. जिसके बाद अवैध निर्माण को तोड़ने के लिए मामले को एलडीए कोर्ट के समक्ष रखा गया था, लेकिन इसकी सूचना मिलने पर गायत्री प्रजापति के लोगों ने शमन कराने के लिए गुपचुप तरीके से 11,175 रुपये का शुल्क जमा करवा दिया. जिसकी वजह से सुनवाई टल गई थी.

वहीं बीते सोमवार को फिर हुई सुनवाई में विहित अधिकारी धनंजय शुक्ला ने जांच में पाया कि निर्माण एलडीए से बिना मानचित्र पास कराए किया जा रहा था. शमन के लिए कोई मानचित्र भी जमा नहीं कराया गया था. केवल शुल्क ही जमा कराया गया था.

दो मंजिला निर्माण 170 मीटर बाइ 40 मीटर में कराया गया था, लेकिन एलडीए की अर्जन टीम और सरोजिनीनगर तहसील की संयुक्त जांच टीम ने पाया कि गायत्री प्रजापति ने जो निर्माण कराया था, वह एलडीए की अधिग्रहित जमीन थी. जो खसरा नंबर 162 में दर्ज है. जिसके कारण एलडीए कोर्ट ने अवैध निर्माण को गिराने का आदेश दिया गया है.

First published: 26 April 2017, 15:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी