Home » उत्तर प्रदेश » up: modi government clears proposal for setting a new international airport at jewar in greater noida.
 

अब ग्रेटर नोएडा से कर सकेंगे हवाई सफ़र, 3000 हेक्टेयर ज़मीन की हुई पहचान

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 June 2017, 15:57 IST

ग्रेटर नोएडा में इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनने का रास्ता साफ हो गया है. नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू ने जानकारी दी है कि ग्रेटर नोएडा के जेवर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए 3 हजार हेक्टेयर भूमि की पहचान की गई है. पहले चरण में 1000 हेक्टेयर जमीन को विकसित किया जाएगा.

जेवर एयरपोर्ट को केंद्र सरकार ने शुक्रवार शाम को हरी झंडी दी. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उन्हें कोई आपत्ति नहीं है. राज्य में भाजपा की सरकार बनने के बाद इस एयरपोर्ट को हरी झंडी दी गई है.

योगी सरकार में मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने जेवर एयरपोर्ट को मंजूरी देने के लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया. पिछले काफी समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक एयरपोर्ट की मांग हो रही है.

 

15 से 20 हज़ार करोड़ का निवेश

उन्होंने कहा कि मायावती सरकार ने जेवर में एयरपोर्ट को मंजूरी दी थी, लेकिन अखिलेश यादव की सरकार आगरा में एयरपोर्ट बनाना चाहती थी. अब योगी सरकार ने जेवर में एयरपोर्ट बनाने पर दोबारा विचार किया है.

केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि ग्रेटर नोएडा का जेवर एयरपोर्ट आने वाले वर्षों में यात्रियों की बढ़ती जरूरतों को पूरा करेगा. इस एयरपोर्ट पर 15 से 20 हजार करोड़ का निवेश किया जाएगा. इससे इस क्षेत्र में आर्थिक गतिविधि को बढ़ावा मिलेगा. अगले 10-15 वर्षों में नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा प्रति वर्ष 30-50 लाख यात्रियों को मंजिल तक पहुंचाएगा. एयरपोर्ट पीपीपी मॉडल के तहत तैयार किया जाएगा.

First published: 24 June 2017, 15:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी