Home » उत्तर प्रदेश » UP: Muslim mass wedding held in Moradabad, organisers say, vegetable biryani was served due to shortage of meat
 

मुरादाबाद: मुस्लिमों की शादी में मजबूरन परोसी गई वेज बिरयानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 March 2017, 11:20 IST
(एएनआई)

यूपी में अवैध बूचड़खानों पर योगी आदित्यनाथ सरकार की कार्रवाई के बाद लखनऊ समेत प्रदेश के ज़्यादातर इलाक़ों में मीट कारोबारी हड़ताल कर रहे हैं. बूचड़खानों पर ताला लटकने के बाद मीट की किल्लत हो गई है. ऐसे में शादी समारोह भी इसके असर से अछूते नहीं हैं.

यूपी के मुरादाबाद में मीट की कमी की वजह से मुस्लिम समुदाय के सामूहिक विवाह समारोह में मांसाहार का इंतज़ाम नहीं हो सका. यहां बारातियों और मेहमानों के लिए खाने में वेज बिरयानी (शाकाहारी बिरयानी) परोसी गई. दरअसल पहले अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई और फिर मीट कारोबारियों के शटर गिराने से सूबे में भैंस, बकरे और चिकन के मीट की कमी है.

एएनआई

'चिकन से काम चलाओ'

दरअसल मुरादाबाद में गरीब तबके के मुस्लिम परिवारों के लिए सामूहिक विवाह कार्यक्रम आयोजित किया गया था. लेकिन मेहमानों को वेज-बिरयानी से ही काम चलाना पड़ा.

मुरादाबाद में एक और मामला सामने आया था. जब एक मुस्लिम परिवार को सगाई के दौरान बीफ परोसे जाने की इजाजत नहीं मिल सकी. पुलिस ने परिवार को सिर्फ चिकन बनाने की इजाजत दी. परिवार के सदस्य सरफ़राज़ का कहना है कि उन्होंने अपनी बेटी के एंगेजमेंट के मौके पर बीफ बनाने की इजाजत मांगी थी लेकिन पुलिस ने कहा, सिर्फ चिकन बनाओ.

एएनआई

मीट कारोबारियों से बातचीत बेनतीजा 

इस बीच राजधानी लखनऊ समेत सूबे के कई इलाकों में मीट कारोबारियों की हड़ताल जारी है. मंगलवार को राज्य सरकार के साथ कारोबारियों की बातचीत बेनतीजा रही. यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कारोबारियों की परेशानियों को लेकर चर्चा की, लेकिन अभी बीच का रास्ता नहीं निकल सका है.

मुर्गी मंडी समिति के सईद बशीर ने बैठक के बाद कहा, "हम अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई के सीएम के फैसले के साथ है, लेकिन हमारे ऊपर क्यों कार्रवाई हो रही है." प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विरोध के तौर पर कारोबारी अपने साथ मुर्गों को लाए थे. यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी की रिकॉर्डतोड़ जीत के बाद 19 मार्च को योगी आदित्यनाथ ने सूबे की कमान संभाली थी. 22 मार्च को सीएम आदित्यनाथ ने सभी अवैध बूचड़खानों को बंद करने का आदेश जारी किया था.

First published: 29 March 2017, 10:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी