Home » उत्तर प्रदेश » UP Police Constable asks fro 30 day leave to expand family
 

यूपी पुलिस के सिपाही की मांग पूरी, परिवार बढ़ाने के लिए बढ़ी छुट्टियों की मियाद

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2018, 10:05 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

दफ्तर से छुट्टी लेने के लिए लोग अपने बॉस को छुट्टी के लिए पत्र लिखते हैं. जिसमें बीमार होने, किसी शादी में जाने या किसी अन्य कारण से छुट्टी लेना बताया जाता है. पुलिस डिपार्टमेंट में तो छुट्टी के लिए पुलिसकर्मियों को पापड़ बेलने पड़ते हैं. जहां ना के बराबर छुट्टी मिल पाती है. ऐसा ही एक मामला इन दिनों सुर्खियों में है. दरअसल, महोबा में एक पुलिस कॉस्टेबल को छुट्टी के लिए आवेदन किया है. जिसमें छुट्टी लेने का कारण परिवार बढा़ना बताया गया है. सिपाही का ये आवेदन सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. हालांकि पुलिस डिपार्टमेंट ने इसे फेक बताते हुए निरस्त कर दिया है.

सोशल मीडिया पर सोम सिंह नाम के सिपाही का आवेदन पत्र वायरल हो रहा है. जिसमें सोम सिंह ने कहा है कि उसे अपना परिवार बढ़ाने के लिए 30 दिनों की छुट्टी चाहिए. महोबा कोतवाली में तैनात सिपाही सोम सिंह ने 23 जून से एक माह की छुट्टी की गुजारिश की है. आवेदन पत्र के मुताबिक संबंधित अधिकारी ने सिपाही की मजबूरी को देखते हुए 45 दिनों की छुट्टी की सिफारिश भी कर दी. वहीं इस बारे में जब जिले के एसपी एन कोलांची से बात की गई, तो उन्होंने इसे फर्जी बताते हुए खारिज कर दिया और जांच के आदेश दिए हैं.

वहीं सिपाही सोम सिंह ने वायरल हो रही चिट्ठी को फर्जी करार दिया है. उन्होंने कहा कि मैं अपना घर बनवाने के लिए 25 जून से छुट्टी पर जा रहा हूं. हालांकि पुलिस सूत्रों के मुताबिक, सोम सिंह ने पहले किए गए आवेदन में परिवार बढ़ाने का ही जिक्र किया था लेकिन जब उनका आवेदन पत्र वायरल हो गया तो उच्च अधिकारियों के दबाव में उन्हें अपना आवेदन बदलना पड़ा. आवेदन पत्र वायरल होने के बाद सोम सिंह की छुट्टी की तारीख भी 23 जून की जगह 25 जून कर दी गई.

बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है जब यूपी पुलिस के सिपाहियों को छुट्टी मिलने में होने वाली परेशानियों का खुलासा हुआ है. इससे पहले मई में लखनऊ में तैनात सिपाही धर्मेंद्र सिंह ने दस दिनों की छुट्टी मांगी थी. धर्मेन्द्र ने कहा था कि अगर मुझे छुट्टी नहीं मिली तो मेरी पत्नी मुझे छोड़कर चली जाएगी. जिसके बाद अधिकारियों ने धर्मेन्द्र की छुट्टी तत्काल मंजूर कर ली थी.

ये भी पढ़ें- हापुड़: कासिम का भाई बोला- उसकी हत्या की वजह गो-हत्या नहीं बल्कि मुसलमान होना था

First published: 23 June 2018, 10:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी