Home » उत्तर प्रदेश » Uttar Pradesh: A government school punishes student for reciting Bharat Mata ki jai
 

उत्तर प्रदेश: इस सरकारी स्कूल में 'भारत माता की जय' बोलने पर है पाबंदी, न मानने पर छात्रों को मिलती है सख्त सजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2018, 11:47 IST
(File Photo)

देश में इस समय जब देशभक्ति पर चर्चाएं और बहस मुख्य मुद्दा बन गई हैं. ऐसे में उत्तर प्रदेश के एक सरकारी स्कूल से काफी हैरान करने वाली खबर सामने आई है. उत्तर प्रदेश के इस सरकारी स्कूल में प्रार्थना सभा के दौरान 'भारत माता की जय' बोलने पर सजा दी जाती है. इस सरकारी स्कूल के किसी छात्र को 'भारत माता की जय' स्लोगन बोलने की आजादी नहीं है.

स्कूल का ये मामला सामने आया जब एक सामाजिक संस्था मानस मंदिर के कमेटी मैनेजर शिव कुमार जायसवाल ने सहयोगियों के साथ जीएमएएम इंटर कॉलेज का दौरा किया और छात्रों से पूछा कि क्या उन्हें 'भारत माता की जय' पढ़ने के लिए दंडित किया जा रहा है.

इस मामले में स्कूल के ही इकोनॉमिक्स के अध्यापक ने इस खबर की पुष्टि की है. संजय पांडेय जो कि इस स्कूल में इकोनॉमिक्स पढ़ाते हैं, उन्होंने बताया कि पूर्व में यहां के छात्रों को अपनी देशभक्ति दिखाने के लिए सजा दी गयी है. आगे पांडेय ने आरोप लगाया कि ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस स्कूल के अधिकतर टीचर्स मुस्लिम हैं.

 

रेलवे को चोर यात्रियों ने लगाई करोड़ों की चपत, तौलिये और बेडशीट चुराने से हुआ इतना नुकसान

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते कहा, '' जावेद अख्तर नाम के एक अध्यापक ने एक छात्र को 'भारत माता की जय' बोलने पर सजा दी. उस छात्र को कई खड़ा रखा. ये सब यहां पर पिछले कई महीनों से हो रहा है. ये स्कूल छात्रों को 'भारत माता की जय' बोलने की स्वीकृति नहीं देता है. क्योंकि यहां का अधिकतर स्टाफ मुस्लिम है.''

इस मामले में स्कूल के प्रिंसिपल ने बात करते हुए इस तरह की सारी रिपोर्टों को खारिज कर दिया और कहा कि उनके संगठन ने हमेशा संस्थान में छात्रों के बीच देशभक्ति भावना पैदा की. उन्होंने कहा, "मैंने इस विद्यालय के अंदर ऐसा कुछ नहीं सुना है. मैं स्वयं सरकार द्वारा आयोजित सभी देशभक्ति कार्यक्रमों में बहुत उत्साहपूर्वक भाग लेता हूं. न केवल 2 अक्टूबर को, मैंने स्वच्छ भारत ड्राइव में भी हिस्सा लिया है.''

First published: 6 October 2018, 11:47 IST
 
अगली कहानी