Home » उत्तर प्रदेश » uttar pradesh BHP says, Akhilesh's bungalow had illegal money in the walls
 

'अखिलेश के बंगले की दीवारों में अवैध धन था'

न्यूज एजेंसी | Updated on: 15 June 2018, 18:38 IST

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सरकारी बंगले में अपने पैसे से जो नल की टोंटी और टाइल्स लगवाए थे, उसे उखड़वा दिया तो घमासान मच गया.  इस घमासान में अब विश्व हिंदू परिषद (विहिप) भी कूद पड़ी है.  विहिप का अनुमान है कि दीवारों के पीछे अवैध तरीके से कमाया गया धन छिपाया गया था. शुक्रवार को बांदा पहुंचे कानपुर प्रांत के गोरक्षा प्रमुख प्रभाकर सिंह चंदेल ने कहा, "अखिलेश यादव के जिस सरकारी बंगले की दीवारें और सीलिंग तोड़ी गई हैं, दरअसल उसके पीछे अवैध तरीके से कमाया गया धन छिपाया गया था. 

राज्य सरकार के आदेश पर राज्य संपति विभाग हालांकि उस बंगले की जांच शुरू कर दी है, मगर आरोप-प्रत्यारोप का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है. भाजपा नेताओं के अलावा विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) भी इस विवाद में कूद पड़ी है. 

चंदेल ने कहा, "पिछली सरकार ने उत्तर प्रदेश में जो लूट-खसोट मचाई थी, उससे जमा अवैध धन बंगले की इन्हीं दीवारों के पीछे छिपाया गया था. दीवारों में रुपयों के बंडल, सोने की सिल्लियां और भारी मात्रा में हीरे-जवाहरात छिपाए गए थे. इतना ही नहीं, नलों की गायब टोटियां भी सोने की थीं, जिन्हें बाद में ले जाया गया है. 

चंदेल ने बंगले में तोड़फोड़ की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग करते हुए कहा, "दीवारें तोड़कर धन कहां ले जाया गया, इसकी जांच होनी चाहिए. इसके पहले भी आयकर विभाग ऐसी ही जगहों से अवैध संपति बरामद चुका है.  बता दें कि गुरुवार को भी चंदेल सोशल मीडिया में अधिकृत पोस्ट डालकर पूर्व मुख्यमंत्री पर यही आरोप लगा चुके हैं

First published: 15 June 2018, 18:38 IST
 
अगली कहानी