Home » उत्तर प्रदेश » uttar pradesh budget 2018: uttar pradesh yogi adityanath government present second budget of his government
 

योगी सरकार ने बजट पेश कर बनाया ये ऐतिहासिक रिकॉर्ड, कई योजनाओं का किया ऐलान

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2018, 14:52 IST

योगी सरकार ने यूपी के लिए अपना दूसरा बजट पेश किया है. इस बजट की सबसे खास बात यह है कि यह बजट वित्त मंत्री ने शेर पढ़कर शुरू किया और इसका अंत भी शेर से ही हुआ. वित्तमंत्री ने प्रदेश के लिए 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ का मेगा बजट पेश किया.

योगी आदित्यनाथ ने बजट के बाद कहा अब हर सालअयोध्या में दिवाली, बनारस में देव दीपावली और बरसाना में होली होगी. इसके साथ ही योगी सरकार ने सड़क, बिजली, पानी के साथ-साथ धार्मिक संदेश भी दिया.

यूपी के वित्तमंत्री द्वारा पेश किया गया यह अब तक का सबसे बड़ा बजट है. इसके अलावा यह देश में किसी भी राज्य का सबसे बड़ा बजट है. योगी सरकार का ये बजट बुनियादी ढांचा, कृषि और युवाओं के मुद्दों को लेकर है.

योगी सरकार के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने शुक्रवार को भगवान श्रीराम और श्रीकृष्ण को नमन करते हुए योगी सरकार के दूसरे बजट को पेश किया. राजेश अग्रवाल ने 4 लाख 28 हजार 384 करोड़ का बजट पेश किया. यह पिछले साल की तुलना में 11.4 प्रतिशत ज्यादा है.

 

पिछले साल 3.84 लाख करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया था. इसके पहले योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट बैठक में बजट को अनुमोदन मिला. इस बैठक में बजट अनुमोदन के अलावा सात प्रस्तावों को मंजूरी मिली है.

बजट की खास बातें-

-सरकार ने अल्पसंख्यक कल्याण के लिए 2757 करोड़ रुपए, अरबी फारसी मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए 404 करोड़, अरबिया पाठशालाओं को 486 करोड़ के अनुदान दिया है. मान्यता प्राप्त आलिया स्तर के 246 अरबी-फारसी मदरसों को अनुदान के लिए 215 करोड़ रुपए दिए हैं.

-राष्ट्रीय पशु स्वास्थ्य तथा रोग नियंत्रण कार्यक्रम हेतु 100 करोड़ रुपये. प्रदेश में 770 सचल पशु चिकित्सालय संचालित किये जा रहें हैं, जिससे पशु आरोग्य व नस्ल में सुधार अपेक्षित है. इसके लिये 27 करोड़ रुपये. पं. दीन दयाल उपाध्याय लघु डेयरी योजना के लिये 75 करोड़ रुपये की व्यवस्था. विकास खण्डों में पं. दीन दयाल उपाध्याय पशु आरोग्य मेले के आयोजन हेतु 15 करोड़ रुपये की व्यवस्था.

 

-किसानों के उत्थान के लिए कृत संकल्पित सरकार. प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों के कम्प्यूटरीकरण हेतु 31 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था. किसानों को कम ब्याज दर पर फसली ऋण उपलब्ध कराने हेतु सब्सिडी योजना के तहत 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था.

-वित्त मंत्री ने 20 कृषि उत्पाद केंद्र खोलने की बात कही है. वित्तमंत्री ने कहा- किसानों को इससे सहूलियत मिलेगी. गेंहूं खरीद के लिए 5500 केंद्र बनाए जाएंगे. उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण प्रदेश में मुख्यमंत्री खाद्य प्रसंस्करण उद्योग नीति-2017 लागू की गई. मुख्यमंत्री खाद्य प्रसंस्करण मिशन के क्रियान्वयन हेतु 42 करोड़ 49 लाख रुपये की व्यवस्था.

-कृषि एवं संबद्ध सेवाएं खाद्य उत्पादन का लक्ष्य 581 लाख 60 हजार मीट्रिक टन तिलहन उत्पादन का लक्ष्य 11 लाख 28 हजार मीट्रिक टन बुंदेलखण्ड क्षेत्र में खेत-तालाब योजना के अन्तर्गत आगामी वर्ष में 05 हजार तालाबों के निर्माण का लक्ष्य.

-सोलर फोटो वोल्टाइक इरीगेशन पम्पों की स्थापना के लिये 131 करोड़ रूपये की व्यवस्था. स्प्रिंकलर सिंचाई योजना के अन्तर्गत किसानों को सब्सिडी हेतु 24 करोड़ रुपये की व्यवस्था. शरदकालीन गन्ना बुआई के लिए 1 लाख 65 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य. 80 लाख कुंटल उन्नतिशील गन्ना बीज गन्ना कृषकों को उपलब्ध कराया जाएगा.

सहकारिता-उर्वरकों के अग्रिम भण्डारण की योजना हेतु 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था. वित्त मंत्री ने बजट में कहा कि आतंकवाद से लड़ने के लिए हमने एटीएस को मजबूत किया.

 

वित्त मंत्री ने यह शेर कहकर बजट पेश किया
साहिल से मुस्कुरा के तमाशा न देखिये
हमने ये खस्ता नाव विरासत में पायी है
बारिश के इंतज़ार में सर्दियाँ गुजऱ गयी
उठो जमी को चीर के पानी निकाल लो

यह शेर पढ़ कर समाप्त किया बजट भाषण
हमारा वादा है हर घर को जगमगाएंगे, दीयों की लौ को हवाओं से हम बचाएंगे,
स्वर्ग उतरेगा एक रोज अपनी धरती पर, जो कोई नहीं कर पाएगा वो कर के दिखाएंगे

First published: 16 February 2018, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी