Home » उत्तर प्रदेश » Video: UP Police SI who shouted Thain Thain will be given bravery award
 

गजब! एनकाउंटर के समय मुंह से 'ठांय ठांय' की आवाज निकालने वाले SI को मिलेगा वीरता पुरस्कार

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 October 2018, 12:23 IST

उत्तर प्रदेश में बदमाशों का एनकाउंटर करने पहुंची यूपी पुलिस के एक जवान की पिस्तौल अचनाक जाम हो गई. तो यूपी पुलिस के एसआई मनोज कुमार ने मुंह से 'ठांय-ठांय' की आवाज निकल कर बदमाशों को डराने का प्रयास किया. इस घटना के बाद अब उत्तर प्रदेश पुलिस ने एसआई मनोज कुमार का नाम वीरता पुरस्कार प्रस्तावित किया है.

यूपी पुलिस का मानना है एनकाउंटर के समय जो मनोज कुमार ने किया वो बहादुरी का काम था, इसी वजह से उनका नाम बहादुरी पुरस्कार के लिए डीजीपी को भेजा जाएगा. इस बारे में एसपी यमुना प्रसाद ने कहा, ''मेरे सहयोगी एसआई मनोज कुमार ने एक हीरो का काम किया. विभाग ने इसे सकारात्मक लिया है. एसआई की पिस्तौल जाम होने के बाद उन्होंने अपने सहयोगियों का मनोबल बढ़ाने के लिए मुंह से ठांय-ठांय बोला.''

सावधान ! ...तब तो जल्दी ही पूरी दिल्ली बन जाएगी नामर्द 

क्या था मामला

घटना 13 अक्टूबर की है जब असमौली थाना क्षेत्र की पुलिस देर रात वाहनों की चेकिंग कर रही थी. देर रात चल रही इस चेकिंग के दौरान एक बाइक पर सवार दो लोगों को जब पुलिस ने रोका तो वे दोनों बैरियर तोड़फर भागने लगे. पुलिस के पीछा करने पर दोनों गन्ने के खेत में छिप गए. इसी के बाद पुलिस ने फोर्स बुलाकर दोनों की घेराबंदी शुरू कर दी.

पुलिस की मानें तो उन दोनों ने सामने से फायरिंग शुरू कर दी. फायरिंग होने पर एसआई मनोज कुमार ने रिवॉल्वर निकाला मगर पिस्तौल जैम होने के कारन चला ही नहीं. इसके बाद दरोगा और सिपाही ने 'ठांय-ठांय' बोलते हुए आगे बढ़ना शुरू कर दिया. 13 सेकंड के विडियो में एसआई मनोज कहते हुए सुनाई दे रहे हैं, 'मारो-मारो, घेरो-घेरो, ठांय-ठांय'.

इस वीडियो बाद से कई लोग पुलिस का मजाक बना रहे हैं. इस बारे में जब मनोज कुमार से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें शर्मिंदगी नहीं है. उन्होंने कहा, 'मेरी पिस्तौल जाम हो गई थी. मैने भागकर गन्ने के खेत में छिपे बदमाशों पर दबाव बनाने के लिए ऐसा किया. मैं बदमाशों को यह एहसास दिलाना चाहता था कि वह चारों तरफ से घिर गए हैं.'

First published: 17 October 2018, 11:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी