Home » उत्तर प्रदेश » women officer rashme varun post viral on kasganj violence at facebook post, kasganj riots, viral post, viral news, uttar pardesh news
 

कासगंज हिंसा: अब इस महिला अफसर की फेसबुक पोस्ट हो रही है वायरल

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 February 2018, 17:43 IST

कासगंज हिंसा को लेकर यूपी में अफसरों के विवादित फेसबुक पोस्ट और ट्वीट थमने का नाम नहीं ले रहे. बरेली के जिलाधिकारी के बाद अब यूपी की एक महिला अधिकारी का फेसबुक पोस्ट वायरल हो गया है. महिला अफसर ने कासगंज में हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता की हत्या का जिम्मेदार भगवा को ठहराया है. इस पोस्ट ने एक बार फिर से सोशल मीडिया पर घमासान मचा दिया है

ये भी पढ़ें- तो क्या Auto Expo-IPL 2018 में नहीं होंगी डेमो गर्ल्स-चीयर लीडर्स?

सहारनपुर में तैनात हैं रश्मि वरुण

ये महिला अधिकारी सहारनपुर में डिप्टी डायरेक्टर सांख्यिकी रश्मि वरुण हैं. रश्मि वरुण कासगंज हिंसा की तुलना सहारनपुर के मामले से कर दी. उन्होंने ने फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा, कि "यह थी कासगंज की रैली. यह कोई नई बात नहीं है. इससे पहेल भी डॉ. अंबेडकर जयंती पर सहारनपुर के सड़क दूधली में भी ऐसी ही रैली निकाली गई थी. उसमें से अंबेडकर गायब थे या कहिए कि भगवा रंग में विलीन हो गये थे. कासगंज में भी यही हुआ. तिरंगा गायब और भगवा भगवा शीर्ष पर. जो लड़का मारा गया, उसे किसी दूसरे तीसरे समुदाय ने नहीं मारा. उसे केसरी, सफेद और हरे रंग की आड़ लेकर भगवा ने खुद मारा"

रश्मि वरुण ने अपनी पोस्ट में आगे लिखा, कि "जो नहीं बताया जा रहा वह यह है कि अब्दुल हमीद की मूर्ति पर तिरंगा फहराने की बजाये रैली में चलने की जबरदस्ती की गई. केसरिया, सफेद, हरे और भगवा रंग पे लाल रंग भारी पड़ गया.”

महिला अफसर ने बरेली डीएम के डीएम आर विक्रम सिंह का समर्थन भी किया. उन्होंने लिखा था कि ”देखिये सही बात का किस तरह अपना स्पष्टीकरण देना पड़ता है...सही इंसान को भी माफी मांगनी पड़ती है.”

माफी मांगकर डिलीट की पोस्ट

वहीं रश्मि वरुण ने अपनी पोस्ट के कुछ ही समय बाद कहा, कि ”उनकी पोस्ट से अगर किसी की भावना आहत हुई हैं तो वह माफी मांगती हैं.” रश्मि ने कहा है कि ”मैंने अपनी अभिव्यक्ति व्यक्त की है. फ‍िर भी अगर इससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंची है तो क्षमा मांगती हैं.” साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ”अगर शासन से कोई पूछताछ होगी तो वह उसका पूरा जवाब देंगी.” बरहाल मामला बढ़ता देख महिला अधिकारी ने फेसबुक से अपने पोस्ट को हटा दिया.

इससे पहले बरेली डीएम ने किया था ट्वीट

इससे पहले बरेली डीएम राघवेंद्र ने कासगंज हिंसा पर एक पोस्ट किया था. जिसमें उन्होंने लिखा था कि "अजब रिवाज बन गया है. मुस्लिम मुहल्लों में जबरदस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए"

First published: 3 February 2018, 17:38 IST
 
अगली कहानी