Home » उत्तर प्रदेश » Yogi Adityanath changes his Twitter handle: Is he hiding his past bigotry?
 

सीएम योगी का ट्विटर हैंडल बंद, कहीं कट्टरता के सबूत मिटाने की कोशिश तो नहीं?

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 March 2017, 8:32 IST

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को मंत्रियों के विभागों का ऐलान कर दिया. मगर इसी दिन उन्होंने ट्विटर पर मौजूद अपना वेरिफाइड अकाउंट भी बंद कर दिया. अभी तक योगी ट्विटर हैंडल @Yogi_Adityanath से ट्वीट किया करते थे लेकिन अब इसे बंद करके नए हैंडल @myogiadityanath की घोषणा की गई है. कहा गया है कि अब यही हैंडल उनका आधिकारिक ट्विटर हैंडल माना जाएगा.


वेरिफाइड ट्विटर अकाउंट बदलने से यह रहस्य गहरा गया है कि आख़िर एक दिन पहले तक इसी अकाउंट से ट्वीट करने वाले योगी आदित्यनाथ को ऐसा कदम क्यों उठाना पड़ा. अभी तक उनके पुराने हैंडल पर ही भाजपा समेत हर कोई उन्हें टैग किया करता था. फिर सवाल उठता है कि एक दिन के भीतर क्या हो गया कि योगी को अपना हैंडल बंद करना पड़ा.

कुछ लोगों का कहना है कि योगी के पुराने अकाउंट से कई भड़काउ ट्वीट किए गए थे, लिहाज़ा उसे बंद करना बेहतर विकल्प है. जैसे उनका एक ट्वीट है, 'जिस तरह मक्का-मदीना या वेटिकन सिटी में मंदिर नहीं बन सकता, ठीक उसी तरह अयोध्या में मस्जिद का निर्माण नहीं हो सकता.'

योगी आदित्यनाथ का यह ट्वीट ना सिर्फ सितंबर 2010 में आए इलाहाबाद हाईकोर्ट के उस फैसले के ख़िलाफ़ है जिसमें ज़मीन का तीन हिस्सों में बंटवारा करके एक हिस्सा सुन्नी वक़्फ बोर्ड को दे दिया था. बल्कि भारतीय जनता पार्टी के उस स्टैंड के विरुद्ध भी जाता है जिसमें पार्टी ने कहा था कि कोर्ट का फैसला उसे स्वीकार्य होगा.

योगी आदित्यनाथ का यह कहना कि अयोध्या में कहीं भी मस्जिद का निर्माण नहीं हो सकता, उन संभावनों को भी ख़त्म कर देता है जिसमें सभी पक्षों को बैठकर आपस में सुलह करने की बात कही जा रही है. अगर योगी अभी भी अपने स्टैंड से पीछे नहीं हटते हैं तो इसका असर सुप्रीम कोर्ट की उस टिप्पणी पर पड़ेगा जिसमें कोर्ट से बाहर मध्यस्थता का सुझाव दिया गया था. लिहाज़ा, कयास लगाए जा रहे हैं कि इसी ट्वीट को छिपाने के मकसद से तो कहीं योगी अपना हैंडल बंद करने के लिए मजबूर नहीं हुए?

 

भाजपा ने गफलत बढ़ाई

 

वहीं भाजपा ने योगी के ट्वीटर अकाउंट को लेकर और भ्रम की स्थिति पैदा कर दी है. बुधवार की शाम भाजपा ने ट्वीट किया कि योगी आदित्यनाथ का ट्विटर हैंडल बदल गया है. मगर @myogiadityanath उनका नया ट्विटर हैंडल नहीं है. यह हैंडल सितंबर 2015 से सक्रिय है. यह हैंडल तब भी चल रहा था, जब आदित्यनाथ पुराने अकाउंट से ट्वीट किया करते थे.

अब यहां दो सवाल पैदा होते हैं. पहला यह कि ट्विटर हैंडल @myogiadityanath अभी कुछ दिन पहले तक कौन चला रहा था? दूसरा सवाल यह है कि योगी आदित्यनाथ का वेरिफाइड ट्विटर हैंडल @yogi_adityanath आख़िर अचानक क्यों बंद करना पड़ा?

बहरहाल, अपने भड़काउ बयानों के लिए मशहूर योगी आदित्यनाथ के अतीत से जुड़े इसी तरह के कुछ और रिकॉर्ड अगर गायब नहीं हो जाएं तो कोई हैरानी की बात नहीं होगी. देखते हैं कि आगे क्या-क्या होता है.

First published: 24 March 2017, 8:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी