Home » उत्तर प्रदेश » Yogi Adityanath's deadline 15 june: Still many road holes could not fill by UP Departments
 

योगी की डेडलाइन पर जमकर हुआ काम, लेकिन 'गड्ढामुक्त' नहीं 'गड्ढायुक्त' हैं सड़कें

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2017, 13:27 IST

गड्ढा युक्त सड़कों से यूपी को मुक्त कराने की डेडलाइन आज यानी 15 जून को पूरी हो गई, लेकिन टारगेट अधूरा रह गया. योगी सरकार ने कहा था कि 15 जून तक युपी की सड़कें गढ्ढा मुक्त हो जाएंगी, लेकिन अभी भी करीब 40 फ़ीसदी गड्ढे वाली सड़कों को नहीं भरा जा सका है.

63 फीसदी सड़कें गड्ढामुक्त- मौर्य

डेडलाइन पूरी होने पर यूपी के डिप्टी सीएम और लोक निर्माण विभाग (PWD) मंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि 63 फीसदी सड़कों को गड्ढा मुक्त कर दिया गया है. केशव प्रसाद मौर्य ने इस मौक़े पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. 

इस दौरान उन्होंने बताया कि लोक निर्माण विभाग के अधीन आने वाली सड़कों में 85 हजार किलोमीटर गढ्ढों वाली थीं, लेकिन करीब 75 हजार किलोमीटर सड़कों को गढ्ढा मुक्त कर दिया गया है. यूपी में पीडब्ल्यूडी की 2,25,825 किलोमीटर सड़कें हैं. 

PWD के अलावा बाकी विभाग सुस्त

मगर आंकड़ों से पता चलता है कि टारगेट के प्रति गंभीरता सिर्फ लोक निर्माण विभाग ने दिखाई है. अन्य विभाग जिनमें सिंचाई, पंचायती राज विभाग, गन्ना विभाग आदि थे, उन्होंने उतनी संजीदगी से काम नहीं किया. 

उत्तर प्रदेश में 19 मार्च को योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. इसके बाद किसानों की 35 हजार करोड़ से ज्यादा की कर्जमाफी का बड़ा एलान हुआ. साथ ही मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा था कि 15 जून तक यानी मानसून आने से पहले यूपी की सड़कों को गड्ढामुक्त कर दिया जाएगा.

First published: 15 June 2017, 13:17 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी