Home » उत्तर प्रदेश » Yogi Adityanath UP CM like to take ride of Ex CM Akhilesh Yadav's carriage Know how?
 

अखिलेश के 'रथ' पर सवार होना चाहते हैं योगी

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2017, 17:27 IST

यूपी के विधानसभा चुनाव में जब अखिलेश और राहुल की जोड़ी प्रचार में उतरने वाली थी, तो एक नारा चला था कि यूपी को ये साथ पसंद है. ये नारा लोगों को पसंद नहीं आया और यूपी में योगीराज कायम हो गया.

अब ख़बर है कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को अखिलेश यादव का 'रथ' पसंद है. हैरान मत होइए. दरअसल ये समाजवादी रथ नहीं है, ये रथ है मर्सिडीज कार, जिसे अखिलेश ने चुनाव में हार के बाद वापस कर दिया था. 

दो मर्सिडीज खरीदने का प्रस्ताव खारिज

योगी आदित्यनाथ ने अफसरों के एक प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया है. अफसरों ने सीएम की फ्लीट के लिए साढ़े तीन करोड़ रुपये की दो नई मर्सिडीज कार खरीदने की इजाजत मांगी थी. इस प्रस्ताव को योगी ने ठुकरा दिया है. यूपी के सीएम ने कहा है कि उन्हें पूर्व सीएम अखिलेश यादव की गाड़ी से चलने में कोई परेशानी नहीं है.

राज्य संपत्ति विभाग ने सीएम की फ्लीट के लिए मर्सिडीज बेंज की दो नई एसयूवी खरीदने का प्रपोजल था. सीएम रहते मायावती एक करोड़ की लैंड-क्रूजर से चलती थीं, जबकि अखिलेश यादव डेढ़ करोड़ की मर्सिडीज का इस्तेमाल करते थे.

सादगी पसंद योगी आदित्यनाथ पहले भी अपने कैबिनेट मंत्रियों के लिए 30 लाख रुपये से ज्यादा की फॉर्च्यूनर खरीदने के लिए राज्य संपत्ति विभाग को मना कर चुके हैं. योगी ने फॉर्च्यूनर की जगह इनोवा खरीदने का आदेश दिया था. 

मुलायम ने अभी नहीं लौटाई है मर्सिडीज

समाजवादी सरकार के कार्यकाल में अखिलेश यादव ने सरकारी पैसों से दो मर्सिडीज एसयूवी खरीदी थीं. इसमें से एक कार उन्होंने अपने पिता यानी सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव को दे दी थी. चुनाव में शिकस्त के बाद अखिलेश ने पुरानी मर्सिडीज सीएम स्टाफ को लौटा दी. वहीं मुलायम सिंह ने अब तक कार नहीं लौटाई है.

बताया जा रहा है कि जब अफसरों ने मुलायम से गाड़ी वापस मांगने का मामला योगी के सामने उठाया, तो उन्होंने कहा कि नेताजी काफी बुजुर्ग हैं, लिहाजा उनसे गाड़ी न मांगी जाए. अगर वो खुद लौटा देते हैं तो ठीक है. 19 मार्च को योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान अखिलेश और मुलायम दोनों मंच पर नज़र आए थे.

First published: 4 July 2017, 17:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी