Home » उत्तर प्रदेश » Yogi government will get free sweater for One crore 60 Lakhs School students by October 31st order issued
 

योगी सरकार का स्कूली बच्चों को तोहफा, 1.60 करोड़ स्टूडेंट्स को निःशुल्क दिए जाएंगे स्वेटर

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 September 2020, 13:58 IST

उत्तर प्रदेश की योगी सरकारी (Yogi Government) स्कूली बच्चों (School Children) के तोहफा देने जा रहा ही. दरअसल, यूपी सरकार (UP Government) राज्य के प्राइमरी स्कूलों क बच्चों को निःशुल्क स्वेटर देगी. जिसके लिए सरकारी की ओर से आदेश जारी कर दिए गए हैं. इस आदेश के तहर प्राइमरी स्कूल के एक करोड़ 60 लाख बच्चों को निःशुल्क स्वेटर दिए जाएंगे. ये स्वेटर बच्चों को 31 अक्टूबर तक मिल जाएंगे. स्वेटर्स की खरीद के लिए जेम पोर्टल पर विज्ञप्ति प्रकाशित करनी होगी और खरीद प्रक्रिया 20 सितंबर तक पूरी कर ली जाएगी.

उसके बाद कंपनियों को 5 अक्टूबर से स्वेटरों की सप्लाई शुरू करनी होगी. उसके बाद प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 1.60 करोड़ बच्चों को ये स्वेटर वितरित किए जाएंगे. जिसके लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में क्रय कमेटी का गठन किया गया है.
बता दें कि इस संबंध में बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने आदेश जारी कर दिया है. इसकी अधिकतम कीमत 200 रुपये प्रति स्वेटर तय की गई है. इसके साथ ही स्वेटर खरीदने के लिए जिलों को जेम पोर्टल का ही इस्तेमाल करना होगा और न्यूनतम कीमत देने वाले विक्रेता से स्वेटर खरीदने होंगे. ये स्वेटर 5 साइजों में खरीदे जाएंगे. इसके लिए मानक व कक्षावार साइज शासन ने तय कर दिए हैं.


IBPS Clerk Recruitment 2020: बैंक में क्लर्क बनने का शानदार मौका, ऐसे करें आवेदन

बता दें कि इस बार केवल उन्हीं फर्मों से स्वेटर खरीदा जा सकेगा जिनका पिछले तीन वर्षों में कपड़ों या स्वेटर बेचने का अनुभव रहा होगा. ये फर्म आपूर्तिकर्ता को ब्लॉक स्तर पर स्वेटरों की डिलीवरी करनी होगी. ब्लॉक स्तर पर भेजे गए कुछ स्वेटरों का मिलान सैम्पल के स्वेटर से किया जाएगा. सैम्पल से भिन्न होने पर संबंधित सप्लायर के भुगतान में कटौती की जाएगी. इसके साथ ही आपूर्तिकर्ता को नियम के मुताबिक सप्लायर को 25, 50 और 75 फीसदी भुगतान किया जाएगा.

UPSC Civil Services Prelims 2020: यूपीएससी ने जारी किए सिविल सर्विस प्रीलिम्स परीक्षा के एडमिट कार्ड

कहीं भी वित्तीय अनियमितता और फर्जी छात्र संख्या दर्शाकर फर्जीवाड़ा करने पर जिलाधिकारी की देखरेख में जांच की जाएगी. साथ ही उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए संबंधित अधिकारी या कर्मचारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया जाएगा. जिससे स्वेटर वितरण में किसी तरह का फर्जीवाडा या धांधली को रोका जा सके.

डाक विभाग में दसवीं पास के लिए निकली 5200 पदों पर भर्ती, जल्द करें अप्लाई

First published: 3 September 2020, 13:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी