Home » वायरल न्यूज़ » 61-year-old Nebraskan woman giving birth to her own grandchild acting as the surrogate for her son and his husband
 

अमेरिका में 61 साल की दादी ने अपनी ही पोती को दिया जन्म, जानिए क्या है पूरा मामला

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 December 2020, 17:14 IST
(BBC)

समलैंगिक शादी करने वाले लोगों को सबसे बड़ी समस्या तब आती है जब को संतान का खुश चाहते हैं. ऐसे में या तो वो किसी बच्चों को गोद लेते हैं या फिर वो सरोगेसी के सहारे अपनी संतान को जन्म देनी की सोचते हैं या फिर आईवीएफ तकनीक से बच्चे की सोचते हैं. दूसरी तरफ सरोगेसी के लिए किसी महिला को राजी करना भी काफी कठिन काम होता है. वहीं हाल ही में अमेरिका में एक महिला अपने समलैंगिक बेटे और उसके पति के लिए सरोगेट बनी और उन्होंने अपनी ही पोती को जन्म दिया है, जिसके बाद परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं है.

बीसीसी की रिपोर्ट के अनुसार, अमरीकी राज्य नेब्रास्का में एक 61 वर्षीय सेसिल एलेग ने अपनी ही पोती उमा लुईस को जन्म दिया है. उन्होंने अपने बेटे मैथ्यू एलेग और उसके समलैंगिक पति एलियट डफ़र्टी की बेटी को अपनी कोख में रखा.


रिपोर्ट के अनुसार, सेसिल ने बताया कि जब उनके बेटे मैथ्यू एलेग और उसके समलैंगिक पति एलियट डफ़र्टी ने अपने परिवार को बढ़ाने की सोची तो उन्होंने सरोगेट बनने की पेशकश की थी. खबर की मानें तो, सेसिल ने जब यह प्रस्ताव दिया था तब उनकी उम्र 59 वर्ष थी और उनके इस प्रस्ताव को किसी ने गंभीरता ने नहीं लिया और परिवार के सभी लोग हंसने लगे थे.

सेसिल के दामाद एलियट डफ़र्टी ने कहा,"उनकी तरफ़ से आया ये एक बहुत ही सुंदर भाव लगा. वो एक निस्वार्थ महिला हैं."

लेकिन जब एलेग और डफ़र्टी जो सेसिल के घर के ही करीब ओमाहा में रहते हैं, जब उन्होंने बच्चा पैदा करने के लिए विकल्पों की खोज शुरू की तो उन्हें डॉक्टर द्वारा बताया गया कि उनका यह विकल्प अच्छा हो सकता है.

इसके बाद सेसिल का एक साक्षात्कार हुआ और कई तरह से टेस्ट लिए गए. जब पाया गया कि वो सेरोगेट बन सकती हैं तो इसके बाद उन्हें सरोगेसी के लिए हरी झंडी मिल गई. खबर की मानें तो सेसिल ने बताया,"मैं सेहत का बहुत ध्यान रखती हूं. इस बात पर संदेह करने का कोई कारण नहीं था कि मैं बच्चे को अपनी कोख में रख सकती हूं." सेरोगेसी के लिए जरूरी स्पर्म तो मैथ्यू ने दिया जबकि एलियट डफ़र्टी की बहन ने ली एग डोनर बनीं.

खबर की मानें तो, हेयर ड्रेसर के रूप में काम करने वाले एलियट डफ़र्टी ने कहा कि समलैंगिक युगल आईवीएफ को अंतिम उपाय मान सकते हैं, लेकिन उनके लिए यह जैविक बच्चे के लिए उनकी "एकमात्र आशा" थी. दूसरी तरफ एक स्कूल में पढ़ाने वाले मैथ्यू कहते हैं,"हम हमेशा से जानते थे कि हमें सबसे अलग होना होगा और इसे लेकर कुछ अलग सोचना होगा."

रिपोर्ट के अनुसार, सेसिल के लिए अपने ही बेटे के बच्चों को जन्म देना आसान नहीं थी और उनके ही दूसरे बच्चे इसको लेकर काफी हैरान थे. हालांकि, अधिकतर लोगों ने उनका समर्थन ही किया. बता दें, मैथ्यू की शादी को लेकर नेब्रास्का में काफी विवाद भी हुआ था. वो जिस स्कूल में पढ़ाते थे, उन्हें वहां से उन्हें सिर्फ इसलिए निकाल दिया गया था क्योंकि वो एलियट से शादी करने वाले थे. इसके बाद शहर भर के कई लोगों ने मैथ्यू के समर्थन में भेदभाव को ख़त्म करने की मांग को लेकर एक कैंपेन चलाया था.

अमेरिका के खुफिया विभाग के चीफ का दावा, चीन बना रहा है सुपर सैनिक, नहीं होगा कोई असर

First published: 7 December 2020, 16:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी