Home » वायरल न्यूज़ » Amy Lowry, 35, texting gave her lumps in right hand but ended up having to have it amputated
 

Viral News : ज्यादा फोन चलाना महिला का पड़ा महंगा, बिगड़ी हालत को डॉक्टरों को काटना पड़ा दाहिना हाथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 July 2020, 9:54 IST

Viral News : मोबाइल आज कल हर किसी के जीवन का एक अहम हिस्सा बन गया है. इंसान, सोते जागते जिस चीज की रट्ट लगाए हुए हैं वो है फोन, लेकिन क्या आप सोच सकते हैं कि किसी इंसान का हाथ काटना पड़े वो भी फोन के कारण. हैराम मत होईए, आयरलैंड की 35 वर्षीय एमी लौरी का हाथ डॉक्टरों को सिर्फ इसीलिए काटना पड़ा क्योंकि ज्यादा फोन इस्तेमाल करते करते उसके दाहिने हाथ में सूजन आ गई थी जिसके कारण उसे अपने हाथ कटवाना पड़ा.

एमी लौरी को पहली बार नवंबर 2018 में हाथ में सूजन हुई थी जिसे उन्होंने नजरअंदाज किया. लेकिन जब एक साल बाद भी वो सही नही हुआ था, तो उसके बाद उन्होंने अपने डॉक्टर को दिखाने का फैसला लिया और तब जाकर उन्हें पता चला कि उन्हें दुर्लभ रूप का एक कैंसर हैं.


 

डॉक्टर ने एमी को बताया कि यह बीमारी उसके हाथ से फैल रही थी और उसे इसे समाप्त करने की आवश्यकता होगी. इसके बाद मार्च में लॉकडाउन के दौरान एमी का हाथ हटवाने के लिए आपातकालीन सर्जरी के लिए भेजा गया.

एमी अब अपने बाएं हाथ के साथ जीने की आदत डालने की कोशिश कर रही है और 35 साल के पति गेविन पर भरोसा करती है, ताकि वो उनकी रोज़मर्रा के कामों में मदद कर सके, जैसे कि उसकी लेस बांधना या बाल करना. द सन की रिपोर्ट के अनुसार, एमी अपने पति गेविन मजाक में कहती थी कि उनके हाथ में सूजन फोन पर ज्यादा चैटिंग के कारण हुई थी.

उन्होंने कहा,"मेरे पति और मैं मजाक करते थे कि मेरे फोन पर ज्यादा चैटिंग करने के कारण गांठ हो गई थी, जब मुझे नहीं पता था कि आखिर मुझे क्या हुआ है." लेकिन यह अधिक आक्रामक होने लगा और मैं रात में बीच-बीच में उठकर दर्द से रोती थी जिसके बाद मैंने एक डॉक्टर को दिखाने का फैसला किया."

इसके बाद जांच के बाद सामने आया कि उन्हें सेल सरकोमा का एक दुर्लभ रूप का कैंसर हैं. इसके बाद उनका ऑपरेशन हुआ और उनका हाथ काट दिया गया. इस ऑपरेशन के तीन महीने बाद, एमी अपने पैरों पर खड़ी है और एक सामान्य जीवन जीने के लिए स्वतंत्रता हासिल करने के लिए दृढ़ संकल्पित है, और अब एक बायोनिक हाथ पाने के लिए पैसे जुटा रही हैं.

इस व्यक्ति को 93 साल की उम्र में 5,230 लोगों के मर्डर का ठहराया गया दोषी, मिली दो साल की सजा

First published: 25 July 2020, 15:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी