Home » वायरल न्यूज़ » Anand Mahindra Gift Shop To Shoe Doctor Of Haryana Video Goes Viral
 

आनंद महिंद्रा ने 'जूतों के डॉक्टर' से किया वायदा किया पूरा, तोहफे में दी नई शानदार दुकान

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 August 2018, 16:43 IST

आपको जख्मी जूतों का अस्पताल वाला वो पोस्टर तो याद होगा, जिसे कुछ महीने पहले आनंद महिंद्रा ने अपने ट्विटर पेज पर शेयर किया था. उसके बाद वो मोची सुर्खियों में आ गया था. यही जख्मी जूतों का डॉक्टर एक बार फिर से सुर्खियों में है. इस बार भी वो आनंद महिंद्रा की वजह से सोशल मीडिया में छाए हुए हैं. क्योंकि आनंद महिंद्रा ने इस जूते के डॉक्टर से जो वायदा किया था उसे उन्होंने पूरा कर दिया है.

बता दें कि कुछ महीने पहले आनंद महिंद्रा ने एक तस्वीर अपने ट्विटर पेज पर शेयर की थी. जिसमें एक मोची ने सड़क पर लगी अपनी दुकान पर एक बैनर लाया हुआ था. जिसका नाम 'जख्मी जूतों का हस्पताल' था. उस बैनर पर लंच टाइम से लेकर सारी अस्पताल के बारे में सभी जानकारियां लिखी हुई थीं.

जिसके बाद आनंद महिंद्रा ने इस पर इंवेस्ट करने का विचार किया. उसके बाद आनंद महिंद्रा ने 'जूतों के डॉक्टर' यानी नरसीराम को ढूंढ निकाला और उसे नई दुकान देने का वादा किया. अब उन्होंने अपना वादा पूरा कर दिया है. आनंद महिंद्रा ने नरसीराम को शानदार दुकान बनाकर दी है. जो काफी इनोवेटिव दिखाई दे रही है.

इस दुकान को भी 'जख्मी जूतों का अस्पताल' नाम दिया गया है. आनंद महिंद्रा ने एक वीडियो शेयर किया है. उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. उनके पोस्ट को अबतक 9500 ज्यादा लाइक्स, 2500 से ज्यादा बार रीट्वीट और और 66000 से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं. इसके बाद यूजर्स आनंद महिंद्रा की खूब तारीफ कर रहे हैं.

बता दें कि नरसीराम हरियाणा के जींद में अपनी दुकान लगाते थे. दुकान में लगाया गया वो बैनर सबसे खास था जिसपर लिखा था जख्सी जूूतों का हस्पताल, इस बैनर पर अस्पताल खुलने का समय, लंच टाइम और ओपीडी जैसे सभी सूचनाएं दी गई थीं.

साथ ही दुकान के बारे में खास बात भी बताई गई थी कि यहां सभी प्रकार के जूते जर्मन तकनीक से ठीक किए जाते हैं. उनकी दुकान को देखकर आनंद महिंद्रा भी हैरान रह गए थे. उन्होंने इस दुकान की एक फोटो अपने ट्विटर पर शेयर कर उनकी खूब तारीफ की थी.

ये भी पढ़ें- Video: सांप के काटने से सांतवे आसमान पर पहुंचा महिला का गुस्सा और फिर किया ये चौंकाने वाला काम

First published: 2 August 2018, 16:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी