Home » वायरल न्यूज़ » Astronomers Detect Millions of Signals From an Intelligent Civilization: Us
 

अमेरिकी वैज्ञानिकों का दावा, हमें करोड़ों बार सिग्नल भेज चुके हैं एलियन, लगातार कर रहे हमसे संपर्क करने की कोशिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 November 2020, 20:52 IST

अमेरिकी वैज्ञानिकों का दावा है कि एलियन हमसे संपर्क करने के लिए हमे लगातार संदेश भेज रहे हैं. वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्हें इस संबंध में कई पुख्ता प्रमाण मिले हैं. वैज्ञानिकों ने ऐसे करोंड़ों सिग्नल का पता लगाया है जिससे इस बात के सबूत मिलते हैं कि कोई बुद्धिमान एलियन सभ्यता है और उनके द्वारा लगातार संकेत भेजे जा रहे हैं. वैज्ञानिकों का दावा है कि यह सिग्नल अंतरिक्ष से आ रहे हैं और वो इस बात को लेकर आश्वस्त है. हालांकि, अभी यह समझने में हमे काफी समय लग सकता है कि आखिर वो हमसे क्या कहना चाहते हैं, क्योंकि हमारे पास ऐसी टेक्नोलॉजी नहीं है जो इस भाषा को डिकोड कर पाए.

अमेरिकी वैज्ञानिकों को एलियन सभ्यता के संकेत मिले हैं उन्होंने उन्हें सिग्नल को टेक्नोसिग्नेचर का नाम दिया है. ये एक विशेष प्रकार की रेडियो वेवलेंथ होती है जिसे सर्च फॉर एक्स्ट्राटेरेस्ट्रियल इंटेलिजेंस के द्वारा खोजा जा रहा है. यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के अंतरिक्ष विज्ञानी जीन लुक मार्गोट ने बताया कि हमे कई प्रकाश दूर सभ्यता से आ रही रेडियो वेवलेंथ खोजने में सफलता हासिल हुई है.


कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के खगोल विज्ञानी जीन-ल्यूक मार्गोट ने कहा,"टेक्नोसिग्नेचर को रेडियो वेवलेंथ पर खोजना का सबसे ज्यादा फायदा यह है कि हम हजारों प्रकाश वर्ष दूर से आने वाले संकेतों के प्रति संवेदनशील हैं, और यह उतनी शक्ति नहीं लेता है."

"उदाहरण के लिए, आर्सीबो प्लेनेटरी राडार 400 प्रकाश वर्ष से भी ज्यादा दूर से आ रही रेडियो वेवलेंथ यानी एलियन सिग्नल्स को पकड़ सकता है. लेकिन जो सिग्नल आ रहे हैं वो इससे 1000 गुना ज्यादा ताकतवर सिग्नल हैं. इन्हें सही से कैच करने और उन्हें डीकोड करने के लिए हमें और ताकतवर टेक्नोलॉजी की जरूरत है. हमें ये तो पता चल गया कि हमारे पास एलियन सभ्यता के सिग्नल आ रहे हैं, लेकिन हम उन्हें अभी डीकोड नहीं कर पा रहे हैं. "

जीन लुक मार्गोट और उनकी टीम ने वेस्ट वर्जीनिया स्थित ग्रीन बैंक रेडियो टेलिस्कोप के जरिए टेक्नोसिग्नेचर का पता लगाया है. मार्गोटऔर उनकी टीम ने अप्रैल 2018 और अप्रैल 2019 में दो बार चार-चार घंटे के लिए रेडियो टेलिस्कोप से एलियन सभ्यता से आ रहे सिग्नल पकड़ने की कोशिश की. इस दौरान उन्हें हमारी गैलेक्सी में 31 सूरज जैसे तारे मिले. जिससे 2.66 करोड़ से ज्यादा टेक्नोसिग्नेचर पकड़ में आए.

हालांकि, हमारे पास अभी ऐसे संसाधन मौजूद नहीं है जिससे हम यह पता लगा सकें कि आखिर इन सिग्नल के जरिए वो हमें क्या बताने की कोशिश कर रहे हैं.

पृथ्वी के सबसे पास से गुजरा बस के आकार का उल्कापिंड, लेकिन वैज्ञानिकों को नहीं चला पता

 

First published: 23 November 2020, 19:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी