Home » वायरल न्यूज़ » Baby elephant celebrated birthday style party 15 elephants attended the party
 

हाथी के बच्चे के जन्मदिन में शामिल हुए दर्जनभर से अधिक हाथी, वीडियो में देखें कैसे की पार्टी में मस्ती

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 November 2020, 23:58 IST

Baby elephant celebrates his birthday: आपने अब तक किसी इंसान को जन्मदिन मनाते देखा होगा, लेकिन क्या कभी किसी जानवर को जन्मदिन का केक काटते देखा है? यकीनन आपने ऐसा कभी नहीं देखा होगा. लेकिन केरल में कुछ ऐसा ही हुआ जहां हाथी के एक बच्चे ने अपना पहला जन्मदिन मनाया. साथ ही जन्मदिन का केक भी काटा. दरअसल, केरल (Kerala) में श्रीकुट्टी (Sreekutty) नाम के हाथी के एक बच्चे ने कोट्टर हाथी पुनर्वास केंद्र में हाथी का जन्मदिन मनाया गया. हाथी के बच्चे के जन्मदिन की पार्टी में कई इंसानों के अलावा 15 हाथी भी शामिल हुए.

इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से वायरल हो रहा है. बता दें कि श्रीकुट्टी (Sreekutty) का ये पहला जन्मदिन था. श्रीकुट्टी को एक जंगल से गंभीर चोटों से उस वक्त बचाया गया था जब वह सिर्फ दो दिन की थी. उसे इतनी गंभीर चोटें आई थीं कि उसके जिंदा बचने की संभावना बेहद कम थी. लेकिन मुख्य वन पशु चिकित्सा अधिकारी (आरडीटी) डॉ. ई ईस्वरन श्रीकुट्टी के लिए भगवान का रूप साबित हुए थे. उन्होंने श्रीकुट्टी का विशेष ध्यान रखा और उसे ठीक कर दिया. उन्होंने केले और नारियल पानी के एक स्वस्थ आहार के साथ उसकी प्यार से देखभाल की और फिर श्रीकुट्टी ठीक हो गई.


अब सोशल मीडिया में श्रीकुट्टी के पहले जन्मदिन की पार्टी की तस्वीरें काफी वायरल हो रही हैं. जहां वो डॉक्टर ईस्वरन के साथ नजर आ रही है. वीडियो सोशल मीडिया पर समाचार एजेंसी एएनआई ने शेयर किया है. जिसे लोग बहुत पसंद कर रहे हैं. साथ ही अपनी अपनी प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं. एक यूजर ने लिखा, 'श्रीकुट्टी के दूसरे जन्मदिन पर हम भी शामिल होंगे. चाहे कोरोना काल हो या कुछ भी. हम अभी से प्लानिंग कर रहे है.' एक यूजर ने नोटिस किया कि, श्रीकुट्टी ने अपने जन्मदिन पर सिर पर एक पीले रंग का फूल लगाया था.

ये है सौरमंडल का सबसे रहस्यमयी ग्रह, जहां होती है हर वक्त हीरों की बारिश

न्यू इंडिया एक्सप्रेस को डिप्टी वाइल्डलाइफ वार्डन सतीशान एनवी ने कहा, 'जब हमें श्रीकुट्टी मिली, तो उसका एक पैर बुरी तरह से घायल था. उसके पूरे शरीर पर चोट के निशान थे. यह संदेह है कि वह मजबूत पानी की धाराओं में बह गई थी और आखिर में अपने माता-पिता से अलग हो गई. श्रीकुट्टी शायद ही तीन सप्ताह की थी. उसके बचने की संभावना सिर्फ 40 फीसदी थी.' लेकिन किस्मत ने श्रीकुट्टी का साथ दिया और उसकी जिंदगी बच गई. अब श्रीकुट्टी बिल्कुल ठीक है और बड़ी हो रही है. उसे अपने पहले जन्मदिन पर एक शॉल भेट की गई. साथ ही चावल और रागी से केक बनाया गया. उसके बाद उसी केक को खिलाया गया.

चलती ट्रेन में छोटे से लड़के ने किया जबरदस्त स्टंट, वीडियो देखकर आप भी रह जाएंगे दंग

First published: 11 November 2020, 23:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी