Home » वायरल न्यूज़ » Black Death could spread into China as neighboring Mongolia reports third bubonic plague death
 

चीन पर खतरा: चूहे और गिलहरी से फैल रही है खतरनाक बीमारी, अब तक करोड़ों लोगों की ले चुकी है जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 September 2020, 12:15 IST

कोरोना वायरस से परेशान दुनिया के लिए एक और बुरी खबर सामने आई है. चीन के सीमावर्ती देश मंगोलिया में एक खतरनाक बैक्टीरिया के कारण एक 38 साल के व्यक्ति की मौत हो गई है. यह बैक्टीरिया इस इलाके में चूहे और गिलहरी की वजह से फैल रहा है. सबसे डराने वाली बात यह है कि इस खतरनाक बैक्टीरिया के कारण बीते जून से तीन लोगों की जान जा चुकी है.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले सोमवार को मंगोलिया के पश्चिमी ज़ावखन प्रांत में 38 साल के एक व्यक्ति की मौत हो गई. स्थानिय अधिकारियों ने बताया कि इस व्यक्ति ने मरमेट का मांस खाया था, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. यह जगह मंगोलिया से सटी चीनी सीमा इनर मंगोलिया क्षेत्र के पास है. अगस्त में इस प्लेग से हुई दो लोगों की मौतों हो गई जिसके बाद अधिकारियों ने पूरे इलाके में आंशिक लॉकडाउन लगाया और लोगों को क्वारंटाइन रहने के लिए कहा. इतना ही नहीं सीमा के दोनों तरफ सावधानियां बरती गई.


दूसरी तरफ मंगोलिया में अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी है कि देश के 21 प्रांतों में से कम से कम 17 में ब्यूबोनिक प्लेग का खतरा है. इसके बाद इस बात की आशंका बढ़ रही है कि यह बीमारी पड़ोसी देश चीन में फैल सकती है. बुबोनिक प्लेग, जिसे 'ब्लैक डेथ' के रूप में जाना जाता है, इतिहास में सबसे विनाशकारी बीमारियों में से एक है. 14वीं शताब्दी में लगभग 100 मिलियन लोगों की मौत इस प्लेग के कारण हुई थी, जबकि 6ठीं और 8वीं सदी में इस बैक्टीरिया के कारण उस दौरान करीब 5 करोड़ लोगों की जान गई थी.

मंगोलिया के खोव्सगोल प्रांत में भी एक व्यक्ति मरमेट का मांस खाने के बाद इस प्लेग की चपेट में आ गया था, चीनी राज्य मीडिया सिन्हुआ ने मंगोलिया के जूनोटिक रोगों के हवाले से इस बात की जानकारी दी थी. इसके बाद अधिकारियों ने बताया कि इस व्यक्ति के संपर्क में आने वाले कुल 25 लोगों की जांच की गई. अच्छी बात यह था कि सभी ने इस बीमारी के लिए नकारात्मक परीक्षण किया है.

मंगोलिया में इस साल जुलाई में पहली बार ब्यूबोनिक प्लेग के कारण किसी इंसान के मौत की जानकारी दी थी. कहा गया था कि गोवि-अल्ताई प्रांत में 15 साल के एक लड़के ने इस बैक्टीरिया के संपर्क में आने के बाद दं तोड़ दिया. वहीं दूसरा मामला अगस्त में खोद प्रांत से सामने आया था, जहां 42 साल के शख्स की मौत हो गई थी. इस साल मंगोलिया में ब्यूबोनिक प्लेग के कुल 18 संदिग्ध मामले रिपोर्ट हुए हैं. वहीं चीन में इस बैक्टीरिया के कारण जनवरी से दो अब तक दो लोगों की मौत की खबर है.

ब्यूबोनिक प्लेग (Bubonic Plague) मरमेट यानी जंगली चूहों और गिलहरियों में पाए जाने वाले बैक्टीरिया से इंसानों में फैलता है. इस बैक्टीरिया का नाम है, यर्सिनिया पेस्टिस बैक्टीरियम (Yersinia Pestis Bacterium). यह बैक्टीरिया शरीर के लिंफ नोड्स, खून और फेफड़ों पर हमला करता है. इस बैक्टीरिया के संपर्क में आने के बाद व्यक्ति की उंगलियां और नाक काली पड़कर सड़ने लगती है.

First published: 9 September 2020, 12:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी