Home » वायरल न्यूज़ » Catch Fact Check: Government announced to give relief package to artists affected due to COVID-19?
 

कैच फैक्ट चेक: सरकार ने COVID-19 के कारण प्रभावित कलाकारों को राहत पैकेज देने की घोषणा की है ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 May 2020, 13:45 IST

Coronavirus : देश में लगातार जारी लॉकडाउन (Lokdown) के बीच अर्थव्यवस्था चरमरा गई है. इसकी भरपाई करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार ने 20 लाख करोड़ के भारी-भरकम राहत पैकेज का ऐलान किया है. सरकार ने इससे पहले भी महिलाओं के खातों में डाइरेक्ट मनी ट्रांसफर और फ्री खाद्य वितरण जैसी योजनाएं शुरू की हैं. इस दौरान के सरकार के कोविड-19 राहत अभियान को लेकर सोशल मीडिया में फर्जी सूचनाएं खूब वायरल हो रही हैं. आज हम आपको एक ऐसे की वायरल संदेश की सच्चाई बता रहे हैं, जिसमें कहा गया है कि सरकार ने कोरोना वायरस महामारी के बीच कलाकारों को राहत पैकेज देने का ऐलान किया है.  

क्या है सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज

एक सोशल मीडिया संदेश में दावा किया गया था कि भारत सरकार ने COVID-19 के कारण प्रभावित कलाकारों के लिए राहत योजना की घोषणा की है और उनका विवरण दी गई मेल आईडी पर ईमेल करने के लिए कहा गया है. इस मैसेज में कहा गया है ''यह सन्देश केवल प्रदर्शन करने वाले कलाकारों ((सभी श्रेणियों) के लिए वर्तमान स्थिति के कारण बहुत बुरी तरह से पीड़ित है, जो सभी ईमेल द्वारा अपना निम्नलिखित विवरण भेजें: 1. सेक्रेटरी @sangeetnatak.gov.in 2. [email protected] 3. [email protected]


इस संदेश में आगे कहा गया है ''संस्कृति मंत्रालय से राहत पाने के लिए भारत सरकार ने हाल ही में उनके द्वारा घोषणा की. आप व्यक्तिगत क्षमता समूह लिख सकते हैं या एक समूह अपने कलाकारों के विवरण का सामूहिक रूप से से भेज सकते हैं. आपके भेजे गए विविरण हैं: 1. कलाकार का नाम. 2. पितृत्व. 3. पूरा पता. 4. आप जिस कला से जुड़े हैं उसका विवरण. 5. सेल नंबर और ईमेल. 6. बैंक का नाम और शाखा का पता. 7. खाता संख्या. 8. IFSC कोड. (कृपया इस संदेश को उन सभी वास्तविक कलाकारों को बताएं जिन्हें आप जानते हैं)''.

क्या है सच्चाई

हमारी फैक्ट चेक टीम ने इस संदेश की सच्चाई जानने के लिए जब संस्कृति मंत्रालय की वेबसाइट और मंत्री के ट्विटर हैंडल को चेक किया तो वहां इस तरह की कोई जानकारी मौजूद नहीं थी. गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर भी इस तरह की कोई जानकारी मौजूद नहीं है. न ही इस तरह का कोई आदेश जारी किया गया है. गूगल भी इस तरह की किसी सूचना की पुष्टि नहीं करता है. इस सारी पड़ताल से यह साबित होता है कि वायरल संदेश जालसाजों द्वारा फैलाया गया है, जिसका मकसद लोगों को चूना लगाना हो सकता है.

PIB ने बताया फर्जी

भारत सरकार की प्रेस इन्फॉरमेशन ब्यूरो ने कहा कि ''यह झूठ है, संगीत नाटक अकादमी, संस्कृति मंत्रालय द्वारा ऐसी कोई भी योजना नहीं चलाई जा रही है''. कृपया जालसाजों से सावधान रहें.

कैच फैक्ट चेक: लॉकडाउन में ढील देने लिए सरकार ने बनाया 5 फेज का रोडमैप ?

First published: 14 May 2020, 13:36 IST
 
अगली कहानी