Home » वायरल न्यूज़ » docters saved a life of a Lizard after a jaw surgery, lizard was given a new life
 

ज़िंदगी और मौत की जंग लड़ रही थी छिपकली, डॉक्टर्स ने दिन रात एक करके किया ये अजूबा..

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 January 2019, 14:13 IST
(Symbolic picture)

मुंबई में डॉक्टर्स ने एक छिपकली की सर्जरी करके उसकी जान बचाई. मुंबई में एक गोह (मॉनिटर लिज़र्ड) को डॉक्टर्स ने सर्जरी करके बचा लिया. छिपकली प्रजाति में आने वाले इस गोह के जबड़े में फ्रैक्चर की शिकायत थी जिसके बाद से उसकी हड्डिया और मुंह सड़ने लगा था. डॉक्टर्स ने इस घायल छिपकली का इलाज करके उसकी जान बचा ली.

मुंबई में हुई इस सर्जरी के बारे में डॉक्टर्स ने बताया कि इस छिपकली (मॉनिटर लिज़र्ड ) की हड्डी में संक्रमण हो गया था. डॉक्टर्स ने सर्जरी करके इस बड़ी छिपकली के मुंह से संक्रमित मांस और हड्डी को बाहर निकाला.


ये सर्जरी पशु-पक्षियों की स्पेशलिस्ट डॉ. रीना देव ने की. डॉ. देव के मुताबिक, यह छिपकली बुरी तरह से डिहाइड्रेशन का शिकार थी. जबड़ा टूटने के बाद नेक्रोटिक यानी सड़न पैदा हो गई थी. उनका कहना है कि मुंह में चोट लगने की वजह से ऐसा लगता है कि लिजर्ड ने एक हफ्ते से ज्यादा वक्त से कुछ खाया नहीं है.''

 

डॉ. देव ने टाइम्स ऑफ इंडिया से हुई बातचीत में बताया कि छिपकली ओरल कैविटी में इंफेक्शन और हड्डियां कमजोर होने से सेप्टिसीमिया हो सकता है. इससे पूरे शरीर में संक्रमण फैल जाता है.

5 साल पहले मरी गर्लफ्रेंड को वापस पाने के लिए युवक ने की नागिन से शादी, कहानी सुन कर उड़ जाएंगे आपके होश

इतना ही नहीं इस सर्जरी के बाद डॉक्टर्स छिपकली का पूरा ख्याल रख रहे हैं. ऑपरेशन के बाद से लिजर्ड को सलाइन और दर्द निवारक दवाओं की मदद से एक ट्यूब के जरिए किसी तरह भोजन दिया जा रहा है. इस छिपकली के घायल होने के बारे में रेंज फॉरेस्ट अफसर संतोष कांक ने बताया कि किसी राहगीर ने इस छिपकली को घायल हालत मेंदेखने के बाद फॉरेस्ट हेल्पलाइन को जानकारी दी थी.

इन देशों में कुंवारे लोगों को देना पड़ता था टैक्स, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान...

First published: 22 January 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी