Home » वायरल न्यूज़ » Horror Moment US Snake Handling Pastor Is Bitten By A Deadly Snake During Service Leaving
 

हाथ में खतरनाक सांप लेकर उपदेश दे रहा था पादरी, तभी सांप ने उगला जहर और फिर..

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 August 2018, 12:27 IST

कहा जाता है कि सांप किसी से दोस्ती नहीं करता, भले वो सांपों के पकड़ने में महिल सपेरा ही क्यों ना हो. जब दांव पड़ता है तो सांप उसे भी नहीं छोड़ता, ऐसा ही एक नजारा अमेरिका के केंटकी में नजर आया. जब सांप को पकड़ने के दौरान एक पादरी पर रेटलस्नेक ने हमला कर दिया.

सांप के इस हमले में सांप को हैंडल करने वाला पादरी बुरी तरह जख्मी हो गया. और उसे तुरंत एयरलिफ्ट करना पड़ा. पूरी घटना कैमरे में कैद हो गए. जो आजकल सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहे हैं. इस वीडियो को बार्कक्रॉफ्ट टीवी पर दिखाया गया.

बता दें कि अमेरिका के मिडल्सबोरा में स्थित गॉस्पेट टैबरनेकल चर्च एक मात्र ऐसा चर्च है जो सांपों को हैंडल करने के लिए जाना जाता है और यहां पर सांपों का संरक्षण किया जाता है. यहीं पर एक रेटलस्नेक पादरी पर हमला कर देता है. जिससे उसका चेहरा जख्मी हो गया.

हैरान करने वाले इस वीडियो में देखा जा सकता है कि एक चर्च के अंदर एक पादरी तमाम सांपों के बीच से एक खतरनाक रेटलस्नेक को निकालता है और उसे हाथ में लेकर चर्च में आए श्रद्धालुओं से कुछ कहने लगता है. तभी सांप पादरी को उसके कान के पास डस लेता है.

वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि हल्के नीले रंग की शर्ट पहने पादती को सांप ने डस लिया है जिससे उसकी शर्ट खून से लाल हो गई है. बारक्रॉफ्ट टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक जब सांप ने पादरी को डस लिया. तब पीड़ित पादली ने लोगों से कहा कि, उसे पहाड़ी की चोटी पर ले जाया गया. जहां भगवान न्याय करेगा कि उसे जिंदा रखा जाए या मार दिया जाए.

हालांकि चर्च में मौजूद उसके दोस्त उसे अस्पताल ले गए, तब तक उसे सांप का जहर हल्का-हल्का असर करने लगा था. बारक्रॉफ्ट की रिपोर्ट के मुताबिक सांप हैंडलिंग करने वाला ये चर्च सौ साल पहले एपलाचियन पहाड़ों में शुरु किया गया था.

इससे पहले वर्तमान पादरी कुट्स के पिता सांपों को हैंडल करने का काम किया करते थे. वो भी एक पादरी थे. पादरी कुट्स के पिता को 2014 में एक सांप ने काट लिया जिससे उनकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें- घर पर सो रही मासूम लड़की को उठा ले गए दरिंदे, किया गैंगरेप और फिर...

First published: 19 August 2018, 12:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी