Home » वायरल न्यूज़ » Leopard Rescued From Drowning In 30 Food Well In Otur Maharashtra
 

30 फुट गहरे कुएं में गिर गया तेंदुआ, बचाने के लिए दौड़े ग्रामीण और फिर...

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2018, 17:05 IST

बोरवेल में बच्चों के गिरने की तमाम खबरें आपने सुनी होंगी, लेकिन क्या कभी किसी तेंदुआ के कुआं में गिरने के बारे में सुना है. दरअसल, महाराष्ट्र में एक तेंदुआ तीस फुट गहरे कुआं में गिर गया. जिसे बचाने के लिए तमाम ग्रामीण मौके पर पहुंच गए.

हालांकि बाद में रेस्क्यू कर इस तेंदुए को सुरक्षित कुएं से बाहर निकाल लिया गया. तेंदुआ को कुआं से निकालने में ग्रामीणों को खासी मशक्कत करनी पड़ी. वहीं मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने ग्रामीणों की मदद से तेंदुए को सुरक्षित बाहर निकाल लिया.

घटना का वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है. एनिमल वेलफेयर एनजीओ वाइल्डलाइफ एसओएस की तरफ से सोशल मीडिया पर शेयर किए गए इस वीडियो में तेंदुए को रेस्क्यू करते हुए दिखाया गया है. वीडियो शेयर करने के बाद अब तक इसे हजारों लोग देख चुके हैं. एनजीओ के मुताबिक यह घटना महाराष्ट्र के यदावदी गांव में हुई. यहां पर एक मादा तेंदुआ 30 फीट गहरे कुएं में गिर गई. जब मादा तेंदुआ कुएं में गिरा तो यह ऊपर से खुला हुआ था.

ऐसे किया रेस्क्यू

वीडियो में दिखाया जा रहा है कि सात साल का तेंदुआ गहरे कुएं में गिर गया. उसको निकालने के लिए लकड़ी की सीढ़ी कुंआ में डाली गई. जिसपर तेंदुआ बैठ गया. उसके बाद रस्सी के सहारे से रेस्क्यू टीम ने एक बक्से को कुएं के अंदर उतारा जहां पर तेंदुआ को सीढ़ी से बक्से में बैठाकर बाहर निकाल लिया गया. उसके बाद वन विभाग की टीम ने बक्से का शटर डाउन कर दिया. इस तरह तेंदुआ को कुएं से बाहर निकाला गया.

एक यूजर ने लिखा मैं वाइल्डलाइफ एसओएस की टीम को इस रेस्क्यू और लैपर्ड को बचाने के लिए धन्यवाद देता हूं. एक अन्य यूजर ने लिखा कि पूरे वीडियो को देखने के बाद एक बार तो यह यकीन ही नहीं हुआ कि इस तरह लैपर्ड को बचाया जा सकता है. वाइल्डलाइफ एसओएस के अनुसार बचाई गई लैपर्ड को रेस्क्यू सेंटर में देखरेख के लिए रखा गया है.

ये भी पढ़ें- जिस पत्थर को 30 साल से समझ रहा था बेकार, जब पता चली उसकी कीमत तो रह गया दंग

First published: 9 October 2018, 17:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी