Home » वायरल न्यूज़ » MP farmer finds 14.98 carat diamond in patch of land leased for Rs 200
 

किसान ने 200 रूपये महीने में लीज पर ली थी जमीन, फिर पल्टी किस्मत और रातों रात बन गया लखपति

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 December 2020, 20:16 IST

मध्यप्रदेश का पन्ना जिला हीरो के लिए मशूहर है. इसकी धरती ने कई लोगों की रातों रात किस्मत बदल दी है. इस बार भी कुछ ऐसा ही हुआ है, जहां एक किसान रातों रात लखपति बन गया. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो दो जून की रोटी के लिए संघर्ष करने वाले सीमांत किसान लखन यादव को 14.98 कैरेट का हीरा मिला, जो बीते रविवार को 60.6 लाख रुपये में नीलाम हुआ है.

टाइम्य ऑफ इंडिया कि रिपोर्ट के अनुसार, पन्ना जिले के 45 साल के लखन यादव ने दिवाली से पहले 200 रुपये महीने में 10x10 फीट की जमीन लीज पर खेती के लिए ली थी. लखन यादव जब खुदाई कर रहे थे तब उन्हें एक कंकड-पत्थर के बीच एक चमकती हुई चीज दिखाई दी. इसके बाद जब उन्होंने इसकी जांच कराई तो वह 14.98 कैरेट का हीरा था. खनिज विभाग ने इस हीरे को रविवार को नीलाम कर दिया.


यादव ने अखबार को बताया,"इसने मेरी जिंदगी बदल दी है. लखन ने बताया कि वह उस पल को कभी नहीं भूलेगें. उन्होंने आगे कहा,"जब मैं खुदाई कर रहा था, तो मैने जमीन पर चमकती हुई चीज देखी, जो कंकड़ पत्थर के बीच अलग सा लग रहा था, धूल हटाने के बाद मुझे विश्वास नहीं हो रहा था, कि वह कोई मामूली पत्थर नहीं बल्कि हीरा है. हीरा देखते ही मेरी दिल की धड़कन तेज़ हो गई. उस समय ऐसा लग रहा था कि मानो किसी ने वक्त को रोक दिया हो. यह सब भगवान की मर्जी के बिना संभव नहीं है."

 

TOI

बता दें, लखन यादव की कहानी अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है. इस दौरान लखन की एक तस्वीर भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें वो काउबॉय वाली टोपी, लाल कमीज पर सफेद रंग के गमछा डाले नजर आ रहे हैं.

वहीं जब लखन से पूछा गया कि वो अब लखपति बन गया है तो उसे कैसा लग रहा है. इसके जवाब में उसने कहा , "मैं कुछ भी बड़ा नहीं करूंगा. मैं एक शिक्षित व्यक्ति नहीं हूं और अपने चार बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए मैं उन पैसों को एफडी कर दूंगा."

लखन यादव उन लोगों में से एक हैं जब कई गांवों को पन्ना नेशनल पार्क बनाने के लिए वहां से हटाया गया था. लखन को जो मुआवजे के पैसे मिले, उससे उन्होंने 2 हेक्टेयर जमीन, दो भैंस खरीदी थी. वहीं हीरा मिलने के बाद उन्होंने उसे ज़िला प्रशासक के पास जमा कराया था जिसके बाद उन्हें एक लाख रूपये मिले थे, उससे उन्होंने एक मोटरसाइकिल खरीदी है.

खबर के अनुसार, लखन ने बताया,"मैंने मोटरसाइकिल खरीदी क्योंकि मेरे भतीजों ने इसके लिए जिद्द की थी. मैं अपनी साइकिल से खुश था." लखन यादव ने इस बात की उम्मीद जताई है कि आने वाले दिनों में अगर वो और खुदाई करते हैं तो उन्हें और हीरा मिल सकता है.

अमेरिका में 61 साल की दादी ने अपनी ही पोती को दिया जन्म, जानिए क्या है पूरा मामला

First published: 7 December 2020, 20:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी