Home » वायरल न्यूज़ » NASA headed towards giant golden asteroid that could make everyone on Earth a billionaire
 

अंतरिक्ष में नासा को मिला अकूत खजाना, जो पृथ्वी पर हर व्यक्ति को बना सकता है करोड़पति

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 August 2020, 14:58 IST

अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने इन दिनों अपनी नजरें एक क्षुद्रग्रह पर गड़ाए हुई है, जिसमें इतने कीमती धातु है जिसे अगर पृथ्वी पर मौजूद सभी लोगों को बांट दिया जाए तो, सभी लोग करोड़पति बन जाएंगे. यह क्षुद्रग्रह पर सोने के साथ-साथ, प्लैटिनम, लोहा और निकल के ढेर से भरी हुई है. इस क्षुद्रग्रह का नाम 16 साइकी रखा गया है. अनुमान लगाया गया है कि 16 साइकी पर मौजूद विभिन्न  धातुओं की कीमत 10,000 क्वाड्रिलियन डॉलर है.

16 साइकी करीब 226 किलोमीटर चौड़ा है, जो करबी पृथ्वी के चंद्रमा के व्यास के लगभग सोलहवा हिस्सा है. यह मंगल और बृहस्पति की कक्षाओं के बीच सूर्य की परिक्रमा कर रहा है. नासा साल 2022 में क्षुद्रग्रह की जांच करने के लिए एक मिशन शुरू कर रहा है, जिसे 30 Psyche नाम दिया गया है. यह 2026 के आसपास साइके 16 में आएगा.

इस मिश्न के बारे में नासा ने कहा कि उसके नए उपकरण का उद्देश्य '16 साइकी' का अध्ययन करना है, जिससे धरती के निर्माण के बारे में जानकारी इकट्ठा करने में मदद मिलेगी. इससे पहले जुलाई में नासा ने कहा था इस क्षुद्रग्रह के अध्ययन से हमें पता चलेगा कि हमारा ग्रह और अन्य ग्रह किस तरह से निर्मित हुए हैं. नासा इस क्षुद्रग्रह पर इसलिए भी दिलचस्पी ले रहा है क्योंकि इसमें मौजूद लोहा ही धरती पर मौजूद इंसानों को करोड़ों रूपये मिल सकते है.

एजेंसी की योजना है कि अंतरिक्ष यान पर विभिन्न उपकरणों का उपयोग करके 16 साइकी के गुणों का मानचित्रण और अध्ययन किया जाए, जैसे एक मल्टीस्पेक्ट्रल इमेजर, गामा किरण और न्यूरॉन स्पेक्ट्रोमीटर, एक रेडियो उपकरण और एक मैग्नेटोमीटर. नासा ने कहा कि साइकी अंतरिक्ष यान क्षुद्रग्रह के चुंबकीय क्षेत्र को मापने के लिए एक मैग्नेटोमीटर का उपयोग करेगा. मल्टीस्पेक्ट्रल इमेजर सतह की छवियों और डेटा को क्षुद्रग्रह की रचना और स्थलाकृति के बारे में कैप्चर करेगा. अपने हिस्से पर स्पेक्ट्रोमीटर, क्षुद्रग्रह की संरचना को प्रकट करने के लिए सतह से उत्सर्जित होने वाले न्यूट्रॉन और गामा किरणों का विश्लेषण करेगा.

 

ज्ञानिकों को मिला सूंड वाला चूहा, 50 साल पहले हो गया था लुप्त, देखें वीडियो

First published: 19 August 2020, 14:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी