Home » वायरल न्यूज़ » North Korean leader Kim Jong-un has delegated more responsibilities to his sister Kim Yo-jong
 

मुसीबत में घिरा उत्तर कोरिया, तानाशाह किम जोंग उन ने अपनी बहन को सौंपी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 August 2020, 12:13 IST

उत्तर कोरिया (North Korea) के नेता किम जोंग-उन (Kim Jong-un) ने अपनी उनकी बहन किम यो जोंग (Kim Yo-jong) को और अधिक जिम्मेदारियां सौंपी हैं. दक्षिण कोरिया की जासूस एजेंसियों का हवाला देकर कई दक्षिण कोरियाई सांसदों ने इस बात को कहा है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण कोरिया की जासूस एजेंसी ने कहा है कि किम ने अभी भी अपने पास "पूर्ण अधिकार" बनाए रखा है, लेकिन अपने तनाव के स्तर को कम करने के लिए और विभिन्न नीति क्षेत्रों में बेहतर काम के लिए अपनी बहन को जिम्मेदारी सौंपी है.

बीसीसी की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार को दक्षिण कोरिया की राष्ट्रीय असेंबली में बंद दरवाज़ों के पीछे इस मुद्दे पर चर्चा की गई जिसके बाद असेंबली के सदस्यों ने स्थानिय पत्रकारों से यह बाते कही हैं. खबर के अनुसार, जासूसी एजेंसी का कहना है,"किम जोंग-उन के पास अभी भी पूरी सत्ता बरक़रार है लेकिन वो कुछ ताक़तें धीरे-धीरे बाक़ियों को सौंप रहे हैं."


बता दें, उत्तर कोरिया इन दिनों काफी मुसीबतों में घिरा हुआ है. उस पर पहले से ही कई वैश्विक प्रतिबंध है और कोरोना वायरस और फिर उसके बाद आई भयानक बाढ़ के कारण देश की अर्थव्यवस्था बीते दो दशक में सबसे खराब स्थिति में पहुंच गई है. इसके कारण उत्तर कोरिया को अपने विकास के लक्ष्यों को पाने में देरी हो रही है. 

Kim Yo-jong

खबरों की मानें तो किम यो जोंग को अमेरिका और दक्षिण कोरिया से संबंध बेहतर करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. जब अमेरिका के राष्ट्रपित डॉनल्ड ट्रम्प और किम जोंग उन की मुलाकात हुई थी, उस मुलाकात में किम यो जोंग की भूमिका महत्वपूर्ण बताई जाती है. हालांकि, जासूस एजेंसी ने साफ किया है कि किम यो जोंग देश में दूसरी सबसे ताकतवर जरूर बनी हैं लेकिन वो किम यो जोंग की उत्तराधिकारी अभी नहीं है और सारी शाक्तियां अभी भी किम यो जोंग के पास ही है.

आखिर किम जोंग-उन ने अचानक से यह फैसला क्यों लिया, इसके पीछे जासूस एजेंसियों का तर्क है कि किम जोंग-उन "अपने शासन के दौरान पड़ने वाले दबाव को कम करना चाहते हैं साथ ही किसी नीति के नाकाम होने की दिशा में ख़ुद को दोषी नहीं ठहराना चाहते हैं."

हालांकि, कुछ विशेलषकों का मानना है कि दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसियों के यह दावे सही नहीं है क्योंकि बीते दिनों ही एक मीडिया रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया था कि किम यो-जोंग बीते दिनों हुई दो अहम बैठकों से ग़ायब रही थीं. उस दौरान यह अनुमान लगाया गया था कि उनकी शक्तियां कम कर दी गई हैं.

72 घंटे में 11 हजार बार आसमान से गिरी बिजली, 367 जगहों पर लगी भीषण आग, हजारों एकड़ खाक

कमाल का है यह परिवार, सगे मां और बेटे की उम्र 40 साल, 34 साल की है बेटी, जानिए इनकी पूरी कहानी 

First published: 21 August 2020, 11:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी