Home » वायरल न्यूज़ » Red Grapes Bunch Sold for 7.5 Lakhs rupees in Japan
 

ये है दुनिया का सबसे महंगा अंगूर, कीमत जानकर उड़ जाएंगे होश

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 February 2020, 14:10 IST

Red Grapes: वैसे तो हर मौसम (Season) में अंगूर (Grapes) मिल जाते हैं लेकिन भारत (India) में बसंत ऋतु (Spring Season) अंगूर की फसल का मौसम होता है. ऐसे में आपको हर बाजार (Market) में आसानी से अंगूर देखने को मिल जाएगा. जिनकी कीमत 80, 90 या फिर 100 रुपये या सौ रुपये से कुछ ज्यादा हो सकती है. लेकिन आज हम आपको ऐसे अंगूर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी कीमत (Price) सौ या दो सौ रुपये प्रति किलो नहीं बल्कि लाखों रुपये किलो होती है.

दरअसल, हम बात कर रहे हैं एक खास तरह के लाल अंगूर की. वैसे भारत में लाल अंगूर आसानी से मिल जाता है. लेकिन हम जिस लाल अंगूर की बात कर रहे हैं वो कुछ खास है. दरअसल, जापान में लोग 7.5 लाख रुपये में अंगूर का एक छोटा सा अंगूर का गुच्छा खरीदते हैं. इस अंगूर की किस्म का नाम रूबी रोमन है. इस खास प्रजाति के एक अंगूर का वजन करीब 20 ग्राम होता है. एक गुच्छे में करीब 24 अंगूर होते हैं. ऊंची कीमत की वजह से यह लाल अंगूर खासतौर पर अमीरों के फल के तौर पर जाना जाता है.

बता दें कि इस लाल अंगूर को करीब 12 साल पहले इशिकावा प्रांत की सरकार ने विकसित किया था. यह अंगूर खाने में काफी मीठा लगता है. जापान में लाल अंगूर लग्जरी फलों की श्रेणी में आता है. इसे यहां शुभ अवसरों पर गिफ्ट के तौर पर दिया जाता है. दरअसल, रूबी रोमन जापान में आसानी से न मिलने वाला अंगूर है. इसीलिए यह इतना महंगा है.

कनाजावा के थोक बाजार में पिछले साल इस अंगूर की रिकार्ड बोली लगाई गई. नीलामी में अंगूर के एक गुच्छे को ह्याकुराकुसो नाम की एक कंपनी ने 11 हजार डॉलर यानी करीब 7.52 लाख रुपये में खरीदा था. यह कंपनी जापान में होटल के कारोबार से जुड़ी है. इशिकावा सहकारी समिति का कहना है कि वह इस साल के मध्य तक रूबी रोमन किस्म के करीब 26 हजार गुच्छे निर्यात करेगी.

सोते हुए मगरमच्छ के मुंह से तेंदुए ने कैसे निकाले मांस के टुकड़े, देखें रूह कंपा देने वाला वीडियो

Video: BJP के लिए प्रचार कर रहीं सपना चौधरी ने पूछा- किसे दोगे वोट, लोगों ने चिल्लाकर कहा- केजरीवाल

कोरोना वायरस से हुई मौतों को लेकर चीन ने बोला झूठ! चीनी कंपनी के लीक डाटा से मची खलबली

First published: 8 February 2020, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी