Home » वायरल न्यूज़ » Russian Student Pours Water Mix Bleach On Men’s Groin On The Metro To Teach Them Not To Open Their Legs Wide In Public
 

सार्वजनिक जगहों पर पैर फैलाकर बैठने वाले पुरुषों को ऐसे सबक सिखाती है ये लड़की

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 September 2018, 11:15 IST

आपने अक्सर लोगों को मैट्रो या बसों में सफर करते वक्त टांगों को खोलकर बैठे देखा होगा, लेकिन उनकी इस हरकत से सफर करने वाले तमाम लोगों को असुविधा होती है. ऐसे लोगों को सबक सिखाने के लिए रूस की एक लड़की ने अनोखा तरीका निकाला. दरअसल, रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में की एक सोशल एक्टिविस्ट पब्लिक ट्रांसपोर्ट में मैनस्प्रेडिंग यानी पैर फैलाकर बैठने वाले पुरुषों को निशाने पर ले रही हैं.

ये सोशल एक्टिविस्ट हैं 20 साल की अन्ना दोवगाल्युक. अन्ना दोवगाल्युक पब्लिक ट्रांसपोर्ट्स में सफर के दौरान टांगें खोलकर बैठने वाले पुरुषों पर ब्लीच मिला हुआ पानी डाल देती हैं. वह पुरुषों पर लैंगिक अतिक्रमण का आरोप लगाती हैं. अन्ना कहती हैं कि उनका देश इस समस्या से निपटने में तेजी नहीं दिखा रहा है.

अन्ना 30 लीटर पानी में 6 लीटर ब्लीच मिलाकर एक मिश्रण तैयार करती हैं और फिर पुरुषों के ग्रोन एरिया यानि जांघों पास डाल देती हैं. फेमिनिस्ट दोवगलयुक का कहना है कि, "यह मिश्रण घर में महिलाओं द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले मिश्रण की तुलना में 30 गुना ज्यादा कंसन्ट्रेटेड होता है." हालांकि, मिस अन्ना अपने देश के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर मैनस्प्रेडिंग के आरोप पर खामोश रहीं.

अन्ना ने दावा किया कि उनका नया वीडियो उन सभी पुरुषों को समर्पित है, जिनके लिए पैर खोलकर बैठना आम बात है. अन्ना ने कहा कि इस वीडयो के जरिए वह चाहती हैं कि हर कोई समझ सके कि मर्दों का रवैया किस बॉडी पार्ट से नियंत्रित होता है.

अन्ना का दावा किया कि वह यह काम हर उस इंसान की तरफ से कर रही है, जो सार्वजनिक स्थानों पर मर्दानगी के दिखावे को झेलते हैं. अन्ना ने इससे पहले रूस में स्कर्ट उठाने की घटनाओं के विरोध के तरीके से चर्चा में आ गई थीं. उन्होंने विरोध के तौर पर यात्रियों के सामने खुद अपनी स्कर्ट उठा दी थी.

अन्ना का कहना है कि, "मैं एक सोशल एक्टिविस्ट हूं जो महिलाओं के अधिकारों और किसी भी तरह के भेदभाव के खिलाफ लड़ाई लड़ती है." हालांकि, एक रूसी न्यूज एजेंसी ने दावा किया है कि इस वीडियो के लिए कुछ एक्टर्स को लिया गया था, लेकिन छात्रा ने इसका खंडन किया है.

उन्होंने कहा, "मेरे सभी काम रियल हैं और इसका किसी भी तरह के ऑनलाइन स्टंट से लेना-देना नहीं है." अन्ना से पूछने पर कि क्या लोग इसकी शिकायत नहीं करते हैं तो अन्ना ने कहा, "अभी तक किसी ने शिकायत दर्ज नहीं कराई है और मुझे नहीं लगता कि कोई अपनी जीन्स खराब होने के लिए पुलिस में रिपोर्ट कराने जाएगा." 

बता दें कि कई देशों में मैनस्प्रेडिंग के खिलाफ कैंपेन भी चलाए जा चुके हैं. स्पेन के मैड्रिड में भी पुरुषों के सार्वजनिक स्थानों पर पैर फैलाकर बैठने पर प्रतिबंध लगाए गए थे.

ये भी पढ़ें- 6000 महिलाओं के साथ किया सेक्स, 23 साल की लड़की के साथ संबंध बनाने के दौरान ऐसे हुई मौत

First published: 30 September 2018, 11:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी