Home » वायरल न्यूज़ » The young man got trapped in a river full of snakes, then this animal came to save him
 

सांपों से भरी नदी में फंस गया युवक तो बचाने के लिए आ गया ये जानवर

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2021, 14:59 IST

कुत्ते को इंसान का सबसे अच्छा मित्र करीबी जानवर माना जाता है. इसीलिए लोग अपनी सुरक्षा के लिए कुत्तों को पालतों है. ऐसी तमाम खबरें भी आती रहती हैं जहां कुत्ता अपने मालिक की जान बचाने के लिए खुद की जान दांव पर लगा देता है, लेकिन आज हम जिस जानवर के बारे में बताने जा रहे हैं वह कुत्ता नहीं है और नहीं वह किसी इंसान का मित्र है. बावजूद इस जानवर ने एक शख्स की जान बचाने के लिए अपनी जान दांव पर लगा दी.

दरअसल, इनदिनों सोशल मीडिया में एक तस्वीर बहुत तेजी से वायरल हो रही है. जिसमें एक वनमानुष एक शख्स की ओर हाथ बढ़ाता नजर आ रहा है. ये वनमानुष उस शख्स की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाए हुए है. जो सांपों से भरी एक नदी में फंस गया है. इस घटना की एक तस्वीर इनदिनों सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है. इस तस्वीर को देखकर यकीनन आपको भी जानवरों से प्यार हो जाएगा. आप ये सोचने पर मजबूर हो जाएंगे, जानवर भले ही इंसानों की बोली-भाषा न समझता हो, लेकिन वह इंसान के दुख-दर्द को भली भांति समझता है.


बताया जा रहा है कि ये वनमानुष बोर्निया के एक संक्षित वन क्षेत्र में रहता है. यही वनमानुष सांप से संक्रमित नदी के बीच में फंसे आदमी की मदद के लिए अपना हाथ आगे बढ़ाते दिखाई दे रहा है. इस तस्वीर को फोटोग्राफर अनिल प्रभाकर ने अपने कैमरे में कैद किया है. दरअसल, अनिल प्रभाकर यहां अपने दोस्तों के साथ इस जंगल में सफारी के लिए गए हुए थे.

सीएनएन से बातचीत के दौरान प्रभाकर ने कहा कि, "वन के उस क्षेत्र में सांपों के होने की रिपोर्ट मिली थी, इसलिए वार्डन वहां से सांपों को हटाने के लिए आया था. इसके बाद मैंने देखा कि एक वनमानुष उनके बहुत नजदीक आ गया, उसके बाद उसने उसकी ओर मदद करने के लिए हाथ  दिया. जब मैंने इसे देखा तो इस पल को अपने कैमरे में कैद कर लिया. यह वाकई काफी भावुक कर देने वाला पल था."

नदी किनारे घूम रहा था कुत्ता तभी कर दिया मगरमच्छ ने हमला, वीडियो में देखें आगे हुआ क्या

प्रभाकर ने बताया कि ये पल 3 से 4 मिनट का था. प्रभाकरन ने कहा कि, मैं बहुत खुश हूं कि यह वाकया मेरे सामने हुआ. बता दें कि, बोर्निया ओरांगुटान सर्वाइवल फाउंडेशन इंडोनेशिया का एक एनजीओ है. जिसकी स्थापना 1991 में की गई थी. चार सौ कर्मचारियों वाला ये फाउंडेशन 650 से ज्यादा वनमानुषों का ध्यान रखता है.

Video: मम्मी से पढ़ाई के दौरान बच्ची का रो-रोकर हुआ बुरा हाल, देखकर आपका दिल भी पसीज जाएगा

First published: 23 August 2021, 14:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी