Home » वायरल न्यूज़ » Watch: Magnificent bright ‘Halo’ around sun spotted in Rameswaram sky
 

video: दोपहर में आसमान में दिखा अद्भुत नजारा, आधे घंटे तक लोगों की नहीं हटी नजर

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 August 2020, 20:01 IST

रक्षाबंधन के पावन दिन तमिलनाडु के रामेश्वरम में आसमान में एक अद्भुत नजारा देखने को मिला. इस दौरान सुमद्र किनारे जो भी लोग खड़े थे, वो सूर्य को देखकर आश्चर्यचकित रह गए. इस दौरान आसमान में जमकता सूर्य काफी अलग नजर आ रहा था. सूर्य के चारों और इस दौरान आसमान में एक चमकता हुआ घेरा बना हुआ था. वैज्ञानिक भाषा में इसे प्रभामंडल कहते हैं. लोगों ने आधे घंटे से भी अधिक समय तक प्रभामंडल के अलौकिक दृश्य का आनंद लिया.

22 डिग्री सर्कुलर हलो"बहुत दुर्लभ" घटना नहीं है. जब भी सूर्य के पास या आसपास आकाश में नमी से लदे सिरस के बादल होते हैं, तब यह स्थानीय घटना होती है. Earthskay के अनुसार केवल ध्रुवीय क्षेत्रों या बहुत ठंडे सर्दियों वाले देशों में ही प्रभामंडल की घटना होती हैं. उनकी आवृत्ति सिरस कवरेज की आवृत्ति पर निर्भर करती है. इतना ही नहीं इसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता है कि अगला हलो कब होगा. हालांकि, भारत जैसे देश में यह घटना काफी दुर्लभ. वैज्ञानिकों के अनुसार, इस तरह के बादल सामान्य तौर पर तब बनते हैं, जब पृथ्वी की सतह से पांच से दस किलोमीटर उंचाई पर जलवाष्प बर्फ के क्रिस्टलों में जम जाती है.

22 डिग्री सर्कुलर हलो को सूर्य का वलय भी कहा जाता है. जानकारों ने बताया कि आसमान में जब बादल डेरा बनाते हैं और ये अगर अंतरिक्ष की ऊपरी परत पर चले जाते हैं तो सूर्य की रोशनी इससे टकराकर लौटती है. इस रिफ्लेक्शन से सूर्य के चारों तरफ वलय का आभास होता है. सूर्य के चारों तरफ वलय की स्थिति सुबह 10 बजे के बाद और शाम में तीन बजे तक तेज धूप रहने की स्थिति में दिखती है.


Viral News : शराब से भरा ट्रक पलटा, मची ऐसी लूट पेटियां उठाकर भागने लगे लोग, कोरोना वायरस के नियमों की उड़ाई धज्जियां

पाकिस्तान से सामने आया हैरान कर देने वाला मामला, आठ महीने बाद पुलिस हिरासत से रिहा हुआ मुर्गा

First published: 3 August 2020, 19:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी